महंत नरेंद्र गिरि सुसाइड मामले में आनंद गिरी को मिल सकती है बड़ी राहत, शिष्यों ने केस वापस लेने की कोर्ट में लगाई अर्जी

punjabkesari.in Thursday, Aug 11, 2022 - 01:28 PM (IST)

प्रयागराज: अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के पूर्व अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि सुसाइड मामले में नया मोड आ गया है। दरअसल, सुसाइड मामले में एफआई आर दर्ज कराने वाले शिष्यों ने केस वापस लेने के लिए कोर्ट अर्जी लगाई है। केस वापस होने से आनंद गिर को बड़ी राहत मिल सकती है। जल्द ही जेल से वो रिहा हो सकते है।  शिष्यों ने कहा कि हम किसी पर बेवजह हत्या का आरोप नहीं लगा रहे है।  महंत नरेंद्र गिरि के शिष्य अमर गिरि और पवन महाराज ने पुलिस के द्वारा दर्ज रिपोर्ट पर ही सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि हमने महंत नरेंद्र गिरी जी की मौत की सूचना दी थी न कि किसी को मौत का जिम्मेदार बताया था।  हमने न ही आनंद गिरी के खिलाफ कोई कार्रवाई की शिकायत की थी उसके बावजूद भी पुलिस ने आनंदर गिरी पर कार्रवाई की है।

कोर्ट में लगाई गई अर्जी के मुताबिक हम किसी के खिलाफ कोई एफआईआर दर्ज नहीं कराई थी। पुलिस को सिर्फ महंत की मौत की जानकारी दी थी। अर्जी में कहा गया कि हमने किसी व्यक्ति विशेष को कोई घटना करते या उसमे शामिल होते नहीं देखा है। केस वापस लेने के लिए पांच पन्नों की एक अर्जी लगाई गई है। प्रथम सूचनाकर्ता अमर गिरि के दस्तखत हैं। महंत नरेंद्र गिरि के करीबी और वफादार शिष्यों में थे। दोनों बाघम्बरी मठ द्वारा संचालित संगम किनारे स्थित लेटे हुए हनुमान मंदिर के पुजारी हैं। फिलहाल सुसाइड नोट के आधार पर पुलिस ने महंत नरेंद्र गिरि के शिष्य आनंद गिरी को मौत को जिम्मेदार मानने ने हुए गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले वो प्रयागराज की नैनी जेल में बंद है। अगर केस वापस होता है तो उन्हें बड़ी राहत मिलेगी।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static