BJP का ब्लॉक प्रमुख की 825 में 635 से अधिक सीट जीतने का दावा, विपक्ष ने लगाया ये आरोप

punjabkesari.in Sunday, Jul 11, 2021 - 09:51 AM (IST)

लखनऊः उत्तर प्रदेश में क्षेत्र पंचायत प्रमुखों के निर्वाचन के लिए शनिवार को मतदान और मतगणना लगभग पूरी हो गई है, लेकिन राज्‍य निर्वाचन आयोग की ओर से रात तक इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं हुई। इससे इतर, सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी ने क्षेत्र पंचायत प्रमुख की 825 सीटों में 635 से अधिक पर भाजपा और सहयोगी दलों के जीत का दावा किया है, जबकि समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, कांग्रेस समेत विपक्षी दलों ने भाजपा पर सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर क्षेत्र पंचायत प्रमुख के पदों पर कब्जा करने का आरोप लगाया। प्रदेश में 476 प्रमुख क्षेत्र पंचायत पदों के लिए मतदान शनिवार सुबह 11 बजे से अपराह्न तीन बजे तक, झड़प और छिटपुट घटनाओं के बीच संपन्न हुआ। मतदान समाप्त होते ही वोटों की गिनती शुरू हुई, जिसमें अधिकांश क्षेत्रों में परिणाम घोषित हो गये लेकिन कुछ सीटों पर मतगणना जारी है। राज्य पुलिस के अनुसार शनिवार को चुनाव के दौरान 17 जिलों से नारेबाजी और झड़प की सूचना है और संबंधित जिला पुलिस प्रमुखों को इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है।

अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा कि चुनावी प्रक्रिया पूरी होने के बाद विजय जुलूस की अनुमति नहीं देने और स्थिति पर कड़ी नजर रखने के भी आदेश जारी किए गए हैं। सोनभद्र से प्राप्त सूचना के अनुसार, नगवां क्षेत्र पंचायत में भाजपा प्रत्याशी के चुनाव जीतने के बाद चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए सपाइयों ने जमकर बवाल किया जिसमे पुलिस क्षेत्राधिकारी समेत एक पुलिसकर्मी व राबर्ट्सगंज नगर पालिका के पूर्व चेयरमैन घायल हो गए। उपद्रवियों ने कुछ वाहनों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि नगवां ब्लॉक में शांतिपूर्ण मतदान और मतगणना शांतिपूर्ण तरीके से हुई, लेकिन भाजपा प्रत्याशी आलोक सिंह की जीत की घोषणा होने के बाद सपा कार्यकर्ताओं ने चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए चक्का जाम करने का प्रयास किया और जमकर बवाल किया। 

पुलिस ने जाम हटवाने का प्रयास किया तो उन्होंने पत्थरबाजी शुरू कर दी , जिसके जवाब में पुलिस को लाठी चलानी पड़ी। इस घटना में सीओ सदर आशीष मिश्र और एक पुलिसकर्मी को चोट आई है। रॉबर्ट्सगंज से भाजपा के पूर्व चेयरमैन कृष्ण मुरारी गुप्ता का वाहन क्षतिग्रस्त हो गया। वाहन में सवार पूर्व चेयरमैन समेत दो लोग भी जख्मी हुए हैं। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लिया गया है साथ ही कहा कि किसी भी उपद्रवी को बख्शा नहीं जाएगा। सपा जिलाध्यक्ष विजय यादव ने नगवाँ ब्लॉक में हुए बवाल के लिए प्रशासन को जिम्मेदार बताया है। उन्होंने आरोप लगाया कि मतगणना के बाद प्रशासन के लोग परिणाम की घोषणा किए बिना ही मतपेटिका लेकर जाने लगे जिससे जनता में भ्रम की स्थिति उत्पन्न हो गयी और मौजूद लोगों ने बवाल किया। प्रतापगढ़ जिले में क्षेत्र पंचायत प्रमुख के मतदान के दौरान शनिवार को ब्लॉक आसपुर देवसरा में फर्जी मतदान से आक्रोशित एक प्रत्याशी के पक्ष के लोंगों ने पुलिस पर पथराव किया। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। पुलिस उपाधीक्षक (क्षेत्राधिकारी) पट्टी दिलीप सिंह ने बताया कि ब्लॉक आसपुर देवसरा परिसर में ब्लॉक प्रमुख के मतदान के दौरान विवाद के बाद यह घटना हुई।

सपा समर्थकों ने प्रशासन के विरूद्ध नारेबाजी शुरू कर दी। जिला अधिकारी डॉक्टर नितिन बंसल ने बताया कि आसपुर देवसरा ब्लॉक में प्रमुख पद के दो प्रत्याशी भाजपा से कमलाकांत यादव व सपा समर्थित सुषमा यादव थी। जहां सुषमा यादव ने शिकायत किया कि फर्जी मतदान कराया जा रहा है, उनसे कहा गया कि लिखित शिकायत दें। उसके बाद भीड़ ने उग्र हो कर पथराव शुरू कर दिया, पुलिस ने भीड़ को किसी तरह नियंत्रित किया। बवाल करने वालों के विरुद्ध विधिक कार्यवाही की जायगी। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शनिवार शाम पत्रकारों से बातचीत में योगी ने दावा किया कि अभी तक के रुझान और परिणाम के आधार पर भाजपा 635 सीटों पर सहयोगी दलों के साथ विजयी हुई है और यह संख्या बढ़ेगी।

उन्होंने कहा कि जिला पंचायत अध्यक्षों की 75 सीटों में 67 पर भाजपा और सहयोगी दल को जीत मिली है। गौरतलब है कि राज्य में क्षेत्र पंचायत प्रमुख के निर्वाचन के लिए नामांकन की प्रक्रिया बृहस्पतिवार को शुरू हुई, शुक्रवार को नामांकन पत्रों की वापसी और शनिवार को मतदान हुआ। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने ग्राम प्रधानों, ग्राम सभा सदस्यों, क्षेत्र पंचायत सदस्यों, क्षेत्र पंचायत प्रमुखों, जिला पंचायत सदस्यों और जिला पंचायत अध्यक्षों के चुनावों में 85 प्रतिशत से अधिक सीटों पर भाजपा को जीत मिलने का दावा करते हुए इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और प्रेरणा को दिया। इस संबंध में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को एक बयान में कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश में क्षेत्र पंचायत चुनावों में सरकारी मशीनरी की मदद से ब्लॉक प्रमुख पदों पर जबरन कब्जा किया जाना जनादेश का अपमान है, लोकतंत्र और संविधान में भाजपा सरकार की कोई आस्था नहीं है।''

उन्होंने आरोप लगाया कि सत्ता के सहयोग से भाजपा ने अपने पक्ष में मतदान कराया। प्रदेश में पंचायत चुनाव में हिंसा की घटनाओं पर प्रदेश की सरकार को घेरते हुये बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार में भी कानून का नहीं बल्कि जंगलराज चल रहा है। उन्होंने शनिवार को ट्वीट किया, ‘‘उप्र में वर्तमान भाजपा सरकार में भी कानून का नहीं बल्कि जंगलराज चल रहा है, जिसके तहत यहाँ पंचायत चुनाव में हुई हिंसा व लखीमपुर खीरी की एक महिला के साथ की गई बदसलूकी भी अति-शर्मनाक। क्या यही इनका कानून का राज व लोकतंत्र है? यह सोचने की बात है।''

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया एवं कम्युनिकेशन विभाग के संयोजक ललन कुमार ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि प्रदेश अभी भारी चुनावी हिंसा का गवाह बन रहा है। जगह-जगह भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं द्वारा अराजकता फैलाई जा रही है। महिलाओं के साथ अभद्रता की जा रही है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, उत्तर प्रदेश के राज्य सचिव मंडल ने शनिवार को जारी बयान में कहा कि तीन दिनों तक चले हिंसक तांडव के बाद आखिर उत्तर प्रदेश में भाजपा ने ब्लॉक प्रमुख के अधिकतम पदों पर कब्जा जमा लिया। 


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static