चंदौली में बोले मोदी- भाजपा जनता गठजोड़ के आगे नहीं टिक सकेगा ''मिलावटी गठबंधन''

punjabkesari.in Thursday, Mar 03, 2022 - 04:37 PM (IST)

चंदौली/जौनपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समाजवादी पार्टी (सपा) की अगुवाई वाले गठबंधन को 'मिलावटी' करार देते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का जनता से गठबंधन है।

उन्होंने कहा कि इसके आगे घोर परिवारवादियों का गठबंधन एक पल भी नहीं ठहर सकता। प्रधानमंत्री ने चंदौली और जौनपुर में चुनावी रैलियों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा "भाजपा का जनता के साथ गठबंधन है। उसने विकास और जन कल्याण के लिए जनता से गठबंधन किया है। इस मजबूत गठबंधन के आगे घोर परिवारवादियों का मिलावटी गठबंधन एक पल भी नहीं ठहर सकता।" मोदी ने दावा किया, "उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के हर चरण में लगातार यही दिखाई दे रहा है। जो खबरें आ रही हैं, घोर परिवारवादियों का यूपी की जनता ने पत्ता साफ कर दिया।" उन्होंने सपा नीत गठबंधन पर निशाना साधते हुए दावा किया कि घोर परिवारवादी लोग अब भी कुछ नेताओं और माफिया से गठबंधन की पुरानी राजनीति में ही अटके पड़े हैं। उन्होंने कहा कि उनका गठबंधन जनता से होता है और घोर परिवारवादियों का लक्ष्य ‘सत्ता भोग' है इसलिए वह समाज में बंटवारे की राजनीति करते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा का लक्ष्य राष्ट्र निर्माण का है इसलिए सबको साथ लेकर हम सेवा भाव से काम पूरा करते हैं। प्रधानमंत्री ने दावा किया, "भाजपा ने पिछले सात वर्षों के दौरान देश की राजनीति को बदलने वाले कई महत्वपूर्ण काम किए हैं। 

उसने वोट बैंक की राजनीति के बजाय, जात-पात के भेदभाव के बजाय, क्षेत्र का भेद किए बगैर सिर्फ और सिर्फ सबका साथ, सबका विकास की राजनीति को केंद्र में रखा' मोदी ने कि उन्होंने कोरी घोषणाओं के बजाय सरकारी योजनाओं को उन लोगों तक पहुंचाने के लिए प्रयास किया है जिनके वे हकदार हैं और जिनको सरकार की योजनाओं की सबसे अधिक जरूरत है। उन्होंने आरोप लगाया "घोर परिवारवादी लोग गरीबों के सपनों को कभी पूरा नहीं कर सकते। सरकार चलाने का इन माफिया वादियों का तरीका रहा है कि उत्तर प्रदेश को ‘लूटो' और गरीबों के सपनों को कुचलो। इन्हें कभी आपका दर्द, आपकी मुसीबत नजर नहीं आई।" प्रधानमंत्री ने सपा अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का जिक्र करते हुए कहा, "मैं दिल्ली से उनको चिट्ठी भेजता था क्योंकि उनकी सरकार थी। मैं बार-बार कहता था कि भारत सरकार पैसे दे रही है। आप गरीबों के लिए घर बनाने का काम शुरू करिए लेकिन आप हैरान हो जाएंगे... उन्हें सिर्फ एक ही काम था कि जहां से तिजोरी भरने का मौका मिले, वही काम करो।''

मोदी ने दावा किया कि अखिलेश की सरकार में जौनपुर में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मात्र एक घर की स्वीकृति दी गयी थी जबकि वर्ष 2017 में भाजपा की सरकार बनने पर यहां 30,000 घरों की मंजूरी दी गई और उनमें से 15,000 बनकर तैयार भी हो चुके हैं। पूर्वांचल में फैलने वाली जानलेवा बीमारी इंसेफेलाइटिस का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि घोर परिवारवादियों ने जिस पूर्वांचल को दिमागी बुखार का कहर भुगतने के लिए छोड़ दिया था, वहां आज मेडिकल कॉलेज का नेटवर्क तैयार हो रहा है। सरकार ने निजी मेडिकल कॉलेजों में आधी सीटों पर फीस घटाकर सरकारी मेडिकल कॉलेज के बराबर करने का एक बहुत बड़ा फैसला लिया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान उनकी सरकार पूरी ईमानदारी से लोगों के साथ खड़ी रही। सरकार ने गरीबों के खाते में सीधे पैसे भेजे। गरीब, दलित तथा पिछड़े परिवारों को राशन की जरूरत थी तो सबको मुफ्त राशन देने की योजना भी शुरू की गयी। सबको कोरोना से बचाने के लिए टीकाकरण की जरूरत थी इसलिए मुफ्त टीकाकरण अभियान चलाया गया। 

उन्होंने सवाल किया कि उस मुश्किल समय में घोर परिवारवादी लोग कहां थे? मोदी ने विपक्ष पर आरोप लगाया कि कुछ लोग इस साजिश में जुटे थे कि भारत के टीके को बदनाम कैसे किया जाए। ये लोग इस संकट को और गंभीर बनाने के लिए काम कर रहे थे इसलिए प्रदेश के लोगों ने हर चरण की वोटिंग में इनका पत्ता साफ कर दिया है। अब बारी जौनपुर की है, पूर्वांचल की है, यहां उनका पत्ता साफ होगा। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में भाजपा की विजय इसलिए जरूरी है क्योंकि उत्तर प्रदेश विकास के जिस पथ पर चल पड़ा है, हमें अब उसे थमने नहीं देना है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Imran

Related News

Recommended News

static