Bollywood News: Sara Ali Khan ने अजमेर शरीफ की दरगाह पर टेका माथा, ‘जरा हटके जरा बचके'' फिल्म के लिए मांगी दुआ

punjabkesari.in Monday, May 22, 2023 - 04:07 PM (IST)

यूपी डेस्क: बॉलीवुड अभिनेत्री सारा अली खान (Sara Ali Khan) ने अजमेर शरीफ दरगाह पर चादर चढ़ाई और अपनी आने वाली फिल्म‘जरा हटके जरा बचके' के लिए दुआ मांगी। सारा अली खान इन दिनों अपनी आने वाली फिल्म‘जरा हटके जरा बचके' के प्रमोशन में व्यस्त है। इस फिल्म में सारा के साथ विक्की कौशल लीड रोल में हैं।

PunjabKesari

फिल्म की सफलता के लिए सारा ने अजमेर शरीफ दरगाह पर चढ़ाई चादर
इस बीच सारा फिल्म की रिलीज से पहले राजस्थान के अजमेर शरीफ दरगाह पर पहुंची। जहां उन्होंने फिल्म‘जरा हटके जरा बचके‘की सफलता के लिए अजमेर शरीफ दरगाह पर चादर चढ़ाई। सारा का अजमेर शरीफ दरगाह में वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में दिख रहा है कि सारा अली खान ने मिंट ग्रीन सलवार सूट पहना था। जबकि उन्होंने दुपट्टा से अपने सिर को ढक रखा था और धूप का चश्मा पहन रखा था। इस वीडियो में सारा दरगाह की एक दीवार पर धागा बांधते और प्रार्थना करती नजर आ रही हैं।

PunjabKesari

दरगाह पर सारा के साथ सेल्फी लेने वालों की लगी भीड़
वहीं, जब सारा अली खान दरगाह पहुंचनी तो उनके साथ सेल्फी लेने वालों की भारी भीड़ लग गई। फिल्मी सितारों को अपने आसपास देखकर हजारों की संख्या में जायरीन और स्थानीय लोग थम से गए और मोबाइल हाथों में उठा कर फोटो लेने लगे। बहुत ही भारी मशक्कत के बीच उन्हे सूफी संत ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती की मजार शरीफ तक ले जाया गया। जहां आस्ताना में बरामदे में बैठ कर साराअली खान ने कुछ देर बैठकर अपनी फिल्म जरा हटके जरा बचके के लिए दुआ की। जिसके बाद सारा विक्की कौशल के साथ अजमेर के रामसर गांव गई। जहां गांव के लोगों ने पगड़ी और माला पहनाकर दोनों का स्वागत किया। इसके बाद दोनों 185 लोगों के एक परिवार से मुलाकात की।

PunjabKesari

185 लोगों के एक परिवार से मिले सारा-विक्की
बता दें कि विक्की और सारा रामसर गांव में जिस परिवार से मिले हैं, उसमें कुल 185 सदस्य रहते हैं। यह परिवार नसीराबाद उपखंड के गांव में रहता है। सभी एक साथ मिलजुल कर बहुत खुशी से रहते है। इस परिवार के मुखिया भंवरलाल माली हैं। परिवार के सभी अहम फैसले यही लेते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी, लेकिन इस घर के परिवार के लिए रोजाना 75 किलो आटे की रोटियां बनाई जाती है। 10 चूल्हों में रोटियां तैयार की जाती है। परिवार में कुल 55 पुरुष , 55 महिलाएं और 75 बच्चे है। इस परिवार में कुल 125 वोटर्स हैं। परिवार के भागचंद माली ने बताया कि उनके दादा सुल्तान एक माली थी यह परिवार उन्हीं का है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Harman Kaur

Related News

Recommended News

static