कैबिनेट मंत्री ठाकुर जयवीर सिंह ने यति नरसिंहानंद को बताया सिरफिरा, कहा- ऐसे लोगों की कमी नहीं

punjabkesari.in Sunday, Aug 14, 2022 - 01:45 PM (IST)

लखनऊः उत्तर प्रदेश में हर घर तिरंगा अभियान के चलते हर रोज कोई न कोई मामला सामने आता रहता है। विपक्षी नेता इस अभियान का विरोध कर रहे है। इसी अभियान का गाजियाबाद में डासना देवी मंदिर के पीठाधीश्वर और जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरी ने भी विरोध किया और लोगों को तिरंगा झंडा के स्थान पर भगवा झंडा फहराने को कहा। इस बात पर यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री ठाकुर जयवीर सिंह ने उस पर तंज कसते हुए उन्हें सिरफिरा कह दिया।

बता दें कि जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद सरस्वती ने इस बार तिरंगे को लेकर विवादित बयान दिया। एक वीडियो बनाकर उन्होंने यूट्यूब पर पहले अपलोड किया, फिर लोगों के समझाने पर उसे डिलीट कर दिया। इस बीच वीडियो वायरल भी हो गया। इस वायरल वीडियो में वह कह रहे हैं कि हर घर तिरंगा की जगह भगवा लहराया जाए। उनके वीडियो पर लोगों ने कमेंट करने शुरू कर दिए थे। नरसिंहानंद का कहना है कि हर घर पर भगवा ध्वज होना चाहिए। उनके इस बयान पर अब विपक्षी नेताओं के भी ब्यान आने शुरु हो गए है। उसके इस बयान की निंदा करते हुए मंत्री ठाकुर जयवीर सिंह ने उन्हें सिरफिरा कहते हुए कहा कि आज भी देश में ऐसे लोगों की कमी नहीं है। उन्होंने कहा कि देश में कुछ ऐसे ही लोगों ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी तक को नहीं छोड़ा है। वहीं स्वामी यति नरसिंहानंद गिरि के बयान की संतों ने भी निंदा की है।

संतों की सर्वोच्च संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने हर घर तिरंगा के विरोध में दिए यति नरसिंहानंद गिरी के बयान की निंदा की है। उन्होंने कहा हर भारतीय को तिरंगा लगाना चाहिए। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत रविंद्र पुरी ने कहा कि तिरंगा हमारी आन बान और शान है। तीन दिन तक तो हर भारतीय को अपने घर पर तिरंगा लगाना चाहिए। रवींद्र पुरी ने जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरी के बयान की आलोचना करते हुए कहा कि यति नरसिंहानंद गिरी जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर हैं। लिहाजा उन्हें ऐसे बयान नहीं देने चाहिए।अखाड़ा परिषद ने यति नरसिंहानंद गिरी के बयान से किनारा भी कर लिया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static