महंत नरेंद्र गिरि के सील कमरे में क्राइम सीन रीक्रिएट करेगी CBI, मौत के सच से उठेगा पर्दा

9/26/2021 11:00:06 AM

प्रयागराज: अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि (Mahant Narendra Giri) की मौत की पहेली सीबीआई (CBI) सुलझाने का प्रयास कर रही है। जिसके चलते सीबीआई आज क्राइम सीन (crime scene) को री-क्रिएट (Re-create)करने की तैयारी में है। घटनक्रम के बाद से पुलिस ने कमरे को सील कर दिया था, वहीं सीबीआई कमरे को खुलवाकर क्राइम सीन को री-क्रिएट करेगी।
PunjabKesari
सीबीआई ने की पूरे मठ के एक-एक कमरे की छानबीन 
जांच एजेंसी CBI के के IG विप्लव चौधरी और ASP केस नेगी 20 सदस्यीय टीम के साथ शनिवार को ही बाघंबरी मठ पहुंच गए थे। सबसे पहले सीबीआई ने पूरे मठ का मौका मुआयना किया। एक-एक कमरे की छानबीन की। यहां तक की टीम मठ की छत तक भी गई। इसके बाद टीम ने कागज पर मठ का खाका खींचा। तीन घंटे चली लंबी पूछताछ में कई अहम सुराग हाथ लगे हैं।
PunjabKesari
CBI ने भोजन बनाने वाले रसोइए और सेवादारों से गहन पूछताछ
सीबीआई जांच के दौरान किसी को मठ के अंदर से किसी को न तो बाहर जाने दिया गया और न ही आने दिया गया। सभी के मोबाइल फोन भी जमा करा लिए गए थे। मीडिया को भी एक दायरे में ही रोक दिया गया था। मठ को चारों ओर से सुरक्षाबल ने घेर रखा था। तीन घंटे में CBI ने भोजन बनाने वाले रसोइए और सेवादारों से गहन पूछताछ की।
PunjabKesari
महंत के कमरे में सल्फास की एक डिब्बी पाई गई थी 
महंत नरेंद्र गिरि ने गेस्ट हाउस के जिस कमरे में कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी, उसमें दो दरवाजे हैं। CBI की 3 अलग-अलग टीमों ने मामले की गहनता से पड़ताल की। टीमों में बंटे दल ने 3 घंटे तक छानबीन की। CBI ने शनिवार को महंत की लाश को फंदे से उतारने का दावा करने वाले सेवादार सुमित सहित मठ के अन्य शिष्यों एक-एक कर पूछताछ की है। सबसे ज्यादा देर तक पूछताछ उस रसोइए से की गई, जो मठ का भोजन तैयार करता था और नरेंद्र गिरि को भोजन कराता था। पूछताछ के पीछे जो कारण बताया जा रहा है वह यह है कि जिस दिन नरेंद्र गिरि की मौत हुई थी उस दिन कमरे में सल्फास की एक डिब्बी पाई गई थी और कुछ गोलियां फर्श पर बिखरी पड़ी थीं।
PunjabKesari
महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत
बता दें कि सोमवार को प्रयागराज के बाघंबरी मठ के एक कमरे में महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। उनका शव पंखे से लटका हुआ मिला था, साथ ही कमरे में एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ था। सुसाइड नोट के आधार पर आनंद गिरि, आद्या तिवारी और अन्य को पुलिस ने अपनी गिरफ्त में लिया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Recommended News

static