अलीगढ़ में बच्चा चोर गैंग का पर्दाफाश: लाखों की लालच देकर महिलाओं को बनाते थे शिकार, 6 गिरफ्तार... 18 दिन की दुधमुंही बच्ची भी बरामद

punjabkesari.in Saturday, Apr 23, 2022 - 11:57 AM (IST)

अलीगढ़: उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में बच्चा चोर गैंग द्वारा सरकारी योजना के नाम पर नवजात बच्ची की मां को ₹100000 मदद का लालच देकर 18 दिन की नवजात दुधमुंहि बच्ची को धोखे से अपहरण करने का मामला सामने आया है। इस घटना में इलाका पुलिस ने शिकायत मिलने के 24 घंटे के भीतर बच्चा चोर गिरोह का पर्दाफाश किया है। एसपी सिटी ने बताया है कि थाना गांधी पार्क पुलिस टीम द्वारा बच्चा चोर गैंग की 4 महिलाओं व दो पुरुषों समेत 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। जिनमें सरकारी अस्पताल मलखान सिंह में कार्यरत एक नर्स भी शामिल है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला हाथरस के सासनी में स्थित बसई काजी निवासी नगीना नाम की महिला को 3 अप्रैल को एक बच्ची का जन्म हुआ। तभी से गांव की ही पूजा नाम की महिला जोकि मौजूदा समय में अलीगढ़ में रहती है। उसने नगीना को लालच देते हुए बताया कि जिन महिलाओं के पुत्री पैदा होगी, उनको सरकार द्वारा ₹100000 मदद के रूप में दिया जा रहा है और आप भी यह पैसा ले लो। उषा द्वारा नगीना को नेहा और साधना सिंह स्टाफ नर्स मलखान सिंह जिला अस्पताल अलीगढ़ का मोबाइल नंबर उपलब्ध करा दिया गया। जिसके बाद से पूरा गिरोह एक्टिव हो गया और नगीना को लगातार फोन पर संपर्क कर 21 अप्रैल की सुबह को अलीगढ़ बुलवा लिया गया।

नगीना की मुलाकात नेहा से मलखान सिंह जिला अस्पताल में हुई तो वहां नेहा ने नगीना से कहा कि आपकी बच्ची घर पर पैदा हुई है। इसके जन्म संबंधी प्रमाण पत्र व कुछ चेकअप होने हैं। इसके लिए पूरा गिरोह षड्यंत्र के तहत अलीगढ़ के थाना गांधी पार्क इलाके के जीटी रोड स्थित हीरालाल निजी अस्पताल में चेकअप के बहाने ले आए। हॉस्पिटल पर आकर नगीना को अल्ट्रासाउंड के बहाने अंदर भेज दिया और बच्ची को अपने कब्जे में ले लिया। नगीना को काफी देर तक जब बच्ची नहीं मिली तो घबराकर उसने इसकी सूचना अपने परिवारिजनों को दी। वहीं, पुलिस कंट्रोल रूम पर इसकी शिकायत दर्ज कराई गई।

इधर सभी लोग मौके से बच्ची को लेकर फरार हो गए। घटना की सूचना पर पहुंची इलाका पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की और 24 घंटे के भीतर दुधमुंही नवजात शिशु को बरामद कर 6 लोगों की गिरफ्तारी की गई है। जिनमें मलखान सिंह जिला अस्पताल में कार्यरत नर्स नेहा व उसकी टीम के अन्य सदस्य उषा, विमला देवी, रेनू, विष्णु, अभिषेक को भी गिरफ्तार किया गया है।

एसपी सिटी कुलदीप जी गुनावत द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार पकड़े गए गिरोह के सभी सदस्यों के विरुद्ध सुसंगत धाराओं में कार्रवाई कर जेल भेजा जा रहा है। वहीं, अन्य आपराधिक इतिहास भी खंगाला जा रहा है। इधर बच्ची मिलने के बाद परिवार में भी खुशी का माहौल है। जिन्होंने पुलिस प्रशासन की भूरी-भूरी तारीफ की है।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static