CM योगी ने उड्डयन मंत्री के साथ की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, Ayodhya Airport पर बनाई ये रणनीति

punjabkesari.in Thursday, Sep 10, 2020 - 04:58 PM (IST)

लखनऊः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि बेहतर हवाई कनेक्टिविटी से जहां पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। वहीं व्यापक स्तर पर रोजगार के अवसर सृजित होंगे। योगी ने गुरूवार को यहां लोक भवन में केन्द्रीय नागर विमानन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हरदीप सिंह पुरी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अयोध्या, चित्रकूट तथा सोनभद्र (म्योरपुर) एयरपोर्ट के लिए विकास कार्यों एवं अवस्थापना सुविधाओं के सम्बन्ध में बातचीत की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की मंशा के अनुरूप ‘उड़ान' योजना और एयरपोर्ट निर्माण कार्य में केन्द्र सरकार का पूरा सहयोग मिल रहा है। सभी 17 एयरपोर्टस कार्यशील हो जाने पर नागरिक उड्डयन की सुविधा बढ़ेगी। बेहतर हवाई कनेक्टिविटी से जहां पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। वहीं व्यापक स्तर पर रोजगार के अवसर सृजित होंगे जिससे प्रदेश का तेजी से विकास होगा।

उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े 3 वर्षों में उत्तर प्रदेश में 17 एयरपोर्टस के लिए विकास कार्य हो रहे हैं। पहले यहां पर मात्र 2 एयरपोर्टस कार्यशील थे, लेकिन वर्तमान में सात एयरपोर्टस कार्य कर रहे हैं। योगी ने कहा कि राज्य सरकार की ओर से एयरपोर्ट सम्बन्धी विकास कार्यों के लिए पूरा सहयोग दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि अयोध्या, चित्रकूट तथा सोनभद्र (म्योरपुर) एयरपोर्ट की स्थापना के लिए राज्य सरकार केन्द्र सरकार की अपेक्षाओं के अनुरूप तेजी से कार्य कर रही है। इनके सम्बन्ध में कोई भी मुद्दा लम्बित नहीं रहेगा। तीनों जिलों के जिला प्रशासन द्वारा अपेक्षित कार्रवाई की जा रही है, जिससे हवाई अड्डों की स्थापना जल्द से जल्द हो सके और एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इण्डिया द्वारा चयनित एयर रूट पर हवाई सेवाओं का संचालन कराया जा सके।

उन्होंने केन्द्रीय मंत्री से बरेली, हिण्डन, सहारनपुर, मेरठ, लखनऊ तथा वाराणसी में एयरपोर्ट सम्बन्धी विकास कार्यों को किए जाने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि बरेली, हिण्डन, सहारनपुर व मेरठ से भी उड़ान की सुविधा मिलने पर कनेक्टिविटी बढ़ेगी और इन क्षेत्रों के नागरिकों को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि कुशीनगर अन्तररष्ट्रीय एयरपोर्ट का शेष कार्य समयबद्ध ढंग से आगे बढ़ेगा।

केन्द्रीय नागर विमानन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) ने मुख्यमंत्री के प्रति आभार व धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा एयरपोर्ट के विकास कार्यों में पूरा सहयोग दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अयोध्या व चित्रकूट धार्मिक, आध्यात्मिक व पर्यटन की द्दष्टि से महत्वपूर्ण जिले हैं। इसी प्रकार, सोनभद्र में भी पर्यटन की अनेक सम्भावनाएं हैं। इन तीनों ही जिलों में एयरपोर्ट की स्थापना में राज्य सरकार का पूरा सहयोग मिल रहा है। अयोध्या एयरपोर्ट चरणबद्ध ढंग से विकसित किया जाएगा। केन्द्र व राज्य सरकार अयोध्या, चित्रकूट तथा सोनभद्र (म्योरपुर) एयरपोर्ट के लिए अवस्थापना सुविधाएं विकसित करने के लिए निरन्तर कार्य कर रही है। जिला प्रशासन का भी सहयोग मिल रहा है। निर्धारित लक्ष्य के अनुसार कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के विकास के लिए नागर विमानन तथा आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालयों द्वारा पूरा सहयोग किया जाएगा। सभी 17 एयरपोट्र्स कार्यशील होंगे, जिससे हवाई कनेक्टिविटी और नागरिक सुविधा बढ़ेगी तथा उत्तर प्रदेश विकास के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ेगा। केन्द्र सरकार के अधिकारियों ने बताया कि बरेली, सहारनपुर में हवाई उड़ान के सम्बन्ध में कारर्वाई की जा रही है। मेरठ तथा हिण्डन से उड़ान के सम्बन्ध में स्वीकृति मिलने के बाद कारर्वाई की जाएगी। इसी प्रकार, लखनऊ तथा वाराणसी एयरपोर्ट के विकास कार्य निर्धारित प्रक्रिया के तहत किये जाएंगे। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static