Exclusive: यूपी उपचुनाव में अकेले व अपने दम पर चुनाव लड़ेगी कांग्रेस: लल्लू सिंह

10/8/2019 1:44:44 PM

यूपी डेस्क: उत्तर प्रदेश कांग्रेस के नवनियुक्त अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा है कि वह सभी को साथ लेकर चलेंगे और पार्टी जन मुद्दों को लेकर सड़क पर संघर्ष करेगी। अजय ने मंगलवार को ‘पंजाब केसरी’ से बातचीत में कहा कि उनकी पहली प्राथमिकता जनता के मन में पार्टी के प्रति नजरिए में बदलाव लाना है। इसके लिए पार्टी अवाम से जुड़े मुद्दों को लेकर सदन से सड़क तक संघर्ष करेगी। अजय लल्लू ने इसके अलावा पंजाब केसरी के वरिष्ठ पत्रकार अविरल सिंह द्वारा पूछे गए सभी सवालों का जवाब बेबाकी से दिया। पेश है अविरल सिंह द्वारा पूछे गए सवालों के अन्य जवाब-

सवाल-अजय जी, कांग्रेस को विजय दिलाने के लिए आपको उत्तर प्रदेश कांग्रेस की जिम्मेदारी दी गई है। आगे आपकी रणनीति क्या होगी?
जवाब
-सबसे पहले मैं श्रीमती सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी को धन्यवाद और आभार प्रकट करता हूं कि मेरे जैसे सामान्य कार्यकर्ता पर इतनी बड़ी जिम्मेदारी और भरोसा जताया। इसलिए मैं दिल से उन्हें बहुत बहुत धन्यवाद देता हूं। उत्तर प्रदेश में ढेरों चुनौतियां हैं हमसब मिलकर उन चुनौतियों का सामना करेंगे और अपने संगठन को मजबूती के साथ आगे बढ़ाने का काम करेंगे। 

सवाल-आप चुनौतियों की बात करते हैं। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के पास जमीनी नेताओं की बहुत कमी है इस कमी को आप कैसे पूरा करेंगे?
जवाब-देखिए हमारी पार्टी का आंदोलनों और संघर्षों का इतिहास बड़ा पुराना रहा है। जहां तक जमीनी कार्यकर्ताओं की बात है। मुझे लगता है कि उत्तर प्रदेश में बहुत सारे जमीनी कार्यकर्ता हैं। आप देख सकते हैं कि जो कमेटी बनते आई है उस कमेटी में बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो अपने अपने क्षेत्रों में तमाम विषयों और मुद्दों को लेकर आंदलनों के भागीदार हैं। निष्चित ही वह अपने अपने क्षेत्रों में मजबूती के साथ अपनी एक पहचान और परख संघर्षों के रूप में बढ़ाने का काम किया है। मुझे लगता है कि राजनीति में 3 चीजों का बड़ा ही महत्व है जो है संपर्क, संवाद और संघर्ष। इन तीन माध्यमों से कांग्रेस को मजबूती दिलाने में काफी आसानी होगी। हमारी पार्टी ने पहले से ही ऐसे तमाम कार्यकर्ता और नेता हैं जो मजबूती के साथ पार्टी को आगे बढ़ा रहे हैं।

सवाल-11 सीटों पर उपचुनाव होने वाले हैं इसे आप कैसे देखते हैं? कांग्रेस की क्या भूमिका होगी? क्या किसी के साथ गठबंधन होंगे जैसे लोकसभा और विधानसभा चुनाव में हुए थे या फिर अकेले लड़ेंगे?
जबाव-आप जानते हैं कि कांग्रेस ने अब अपना रुख पहले से ही स्पष्ट कर दिया है। हमारा किसी से कोई गठबंधन नहीं होगा। हम अकेले और अपने दमपर उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ रहे हैं। हम प्रदेश की जनता के जो मूल समस्या है उनको उठा रहे हैं। आज के वर्तमान परिवेश में कानून व्यवस्था हो या फिर महिलाओं के खिलाफ जिस प्रकार की घटनाएं सामने आ रही हैं उसको कांग्रेस मजबूती के साथ उठा रही है। फिर वह चाहे चिन्मयानंद प्रकरण हो या फिर कुलदीप सेंगर का मामला।

इन मामलों को कहीं न कहीं सरकार दबाने का काम कर रही है लेकिन कांग्रेस पार्टी ने जिस तरीके से सड़कों पर उतरकर काम किया है वो किसी से छिपा नहीं है। चाहे सोनभद्र नरसंहार का मामला हो या फिर कुलदीप सेंगर के मामले को सड़कों पर खड़े होकर आगे ले जाने का मामला हो। शाहजहां पुर के प्रकरण को जिस तरीके से सरकार ने दबाव बनाया, हमारी यात्राओं को रोका और हम लोगों को जेल की सलाखों में डाला सबको मालुम है। फिर भी हमारे कार्यकर्ता मजबूती के साथ शाहजहांपुर की पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए संघर्षरत हैं। 

इतना ही नहीं उत्तर प्रदेश के किसानों का 6000 करोड़ रुपया बकाया है जिसे अबतक सरकार ने भुगतान नहीं किया। दूसरी तरफ आप देखें तो बुंदेलखंड के गरीबों की फसल ओलावृष्टि, बारिश और तूफान से बर्बाद हो गई। जिससे किसानों के ऊपर काफी संकट आया। इन किसानों पर भी सरकार ने कोई ध्यान नहीं दिया। उत्तर प्रदेश में जिस तरह से नौजवान बेरोजगारी का दंश झेल रहा है जहां कोई भी रोजगार के साधन नहीं हैं। सारी कंपनियां धीरे धीरे बंद हो रही हैं। प्राईवेट की कंपनियां भी बंद हो रही हैं। सरकारी नौकरियों की भर्तीयां धीरे धीरे समाप्त हो रही हैं। अबतक जितनी वैकंसी निकली सारी की सारी कोर्ट में लंबित हैं। इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि लोक सेवा आयोग के पेपर 50-50 लाख रुपयों में बेचे गए हैं। 

सवाल- भर्ती घोटालों में सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं? 
जबाव-  इस सरकार में कोई जांच सही से हुई हो..सरकार में जांच के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति हो रही है और जांच के नाम पर लोगों को गुमराह किया गया। सभी भर्ती कोर्ट में लंबित हैं चाहे वो 68500 शिक्षक भर्ती हो या ग्राम विकास अधिकारी से लेकर, लेखपाल से लेकर पुलिस की भर्ती से लेकर सभी भर्ती लंबित हैं। 

सवाल - क्या आप इन लंबित भर्तियों के लिए आवाज उठाएगे? 
जबाव- देखिए पार्टी ने संगठन की जिम्मेदारी दी है तो बहुत सारी चुनौतियों के साथ। आप देख सकते हैं कि प्रियंका गांधी तमाम मुद्दों को लेकर आंदोलित हैं तो हमारी पार्टी में निश्चित मुद्दों और संघर्ष के लिए आपस में बातचीत कर एक रिश्ता तैयार किया जाता है। 

सवाल-कोर्ट के आदेश के बाद उम्भा गांव के  55 आदिवासियों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। अब इस मामले में पार्टी क्या करेगी?
जबाव-उनके लिए (उम्भा पीड़ितों)जो भी जरूरत के इंतजाम होंगे चाहे वकील करना हो या कानूनी रूप से या सरकार के ऊपर दबाव बनाकर उनके मुकदमों को हटाने की पहल करने की बात हो कांग्रेस पार्टी के सभी नेता उम्भा के लोगों के साथ मजबूती से खड़े हैं। जिनपर अन्याय हुआ है।

सवाल-कांग्रेस में एक के बाद एक नेता पार्टी छोड़ जा रहे हैं या फिर बगावती तेवर अपनाए हुए हैं। उत्तर प्रदेश में भी कांग्रेस के सदन में बहिष्कार के बाद भी अदिति सिंह ने सदन की कार्यवाही में हिस्सा लिया। इसपर आप क्या कहेंगे?

जबाव-
अदिति सिंहको हम लोगों ने कारण बताओ नोटिस दिया है। उनको दो दिन वक्त दिया गया है और उनके जवाब का इंतजार है। अदिति सिंह के जवाब के बाद पार्टी तय करेगी कि इस मामले में आगे क्या करना है। 

सवाल- लोकसभा चुनाव में पार्टी एक सीट पर सिमट गई और कांग्रेस के गढ़ पर बीजेपी की नजर है तो ऐसे में आप अपना गढ़ कैसे बचाएंगे?
जवाब- हमारा लक्ष्य पूरा उत्तर प्रदेश है। हम पूरी 403 सीटों पर मजबूती के साथ खड़े होंगे। हमें भरोसा है और विश्वास है जिस तरह से उत्तर प्रदेश में वर्तमान सरकार में स्थिति बनी हुई है और जनता आंदोलित है। भय और भ्रष्टाचार से जनता परेशान है। हमें विश्वास और भरोसा है कि 2022 में जनता के भरोसों पर खरा उतरेंगे। 


Ajay kumar

Related News