EVM को लेकर मचे बवाल पर चुनाव आयोग सख्त, बरेली में उप जिला निर्वाचन अधिकारी चुनाव काज से मुक्त

punjabkesari.in Wednesday, Mar 09, 2022 - 08:26 PM (IST)

बरेली: उत्तर प्रदेश के बरेली जिला स्थित बहेड़ी विधानसभा क्षेत्र से मतदान सामग्री और बैलट बॉक्स आदि कूड़ा ढोने वाली बाले नगर पालिका वाहन द्वारा लादकर मतगणना स्थल पर पहुंचाने के प्रकरण में जिला प्रशासन ने कड़ा कदम उठाया है।      

आयोग से अनुमति मिलने के बाद उप जिला निर्वाचन अधिकारी/ अपर जिला अधिकारी (प्रशासन) वीके सिंह को चुनाव प्रक्रिया से हटा दिया गया है, इसके साथ ही आरओ/ रिटनिंग अफसर /एसडीएम बहेड़ी को पद से हटा दिया गया है। दोनों अधिकारियों की जगह पर दूसरे अधिकारी तैनात कर दिया गया है। विधानसभा बहेड़ी विधानसभा से संबंधित चुनाव सामग्री और बैलट बॉक्स आदि नगर पालिका की कूड़ा ढोने वाली गाड़ी से जिला मुख्यालय स्थित मतगणना स्थल पर लाया गया था। यह सब एसडीएम बहेड़ी पारुल तरार के निर्देशन पर हुआ। जांच में दोषी पाए जाने पर जिला निर्वाचन अधिकारी/ जिलाधिकारी शिवाकांत द्विवेदी ने आयोग से दिशा निर्देशन मांगा।

आयोग से मिले निर्देशन पर तत्काल प्रभाव से एसडीएम/ निर्वाचन अधिकारी बहेड़ी पारुल तरार को पद से हटा दिया है, उनकी जगह एएसडीएम सदर बरेली राजेश चंद्र को तैनात किया गया है। इसके साथ ही चुनाव प्रक्रिया जैसे महत्वपूर्ण कार्य में लापरवाही बरतने पर अपर जिलाधिकारी (प्रशासन)/उप निर्वाचन अधिकारी वीके सिंह पर भी गाज गिरी है, उनसे निर्वाचन प्रक्रिया संबंधी सभी दायित्व छीन लिए गए हैं। उनके जगह पर अपर जिलाधिकारी वित्त/ राजस्व सन्तोष बहादुर सिंह को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

उल्लेखनीय है कि समाजवादी पार्टी अन्य दलों के नेताओं ने इस मामले में मंगलवार देर रात तक हंगामा किया था। जिलाधिकारी ने समझा-बुझाकर मामला शांत कराया और मतगणना स्थल पर बहेड़ी से लाया गया वाहन कलेक्ट्रेट रवाना किया और चुनाव संबंधी सामग्री स्ट्रांग रूम में रखवा कर सुरक्षित कराया। जिला निर्वाचन अधिकारी/ जिलाधिकारी शिवाकान्त द्विवेदी ने बताया कि विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 की प्रक्रिया के अंतर्गत परसाखेड़ा स्थित मतगणना स्थल पर अपर ज़लिाधिकारी/ उप जिला निर्वाचन अधिकारी के निर्देश पर सम्बंधित आरओ, बहेड़ी द्वारा मतदान सामग्री के बॉक्स को भंडारण से मतगणना कक्ष तक लाया जा रहा था। अपर ज़लिाधिकारी/ उप ज़लिा निर्वाचन अधिकारी के निर्देश पर लाए जा रही। इस सामग्री पर समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों द्वारा विरोध किया गया।      

ज़िलाधिकारी ने बताया कि उनके विरोध के बाद मतदान सामग्री को भंडारण कक्ष में पुन: रखवाकर सील कर रखवा दिया गया है। उन्होंने कहा कि इस प्रकरण की जांच में दोषी पाए हए दो अफसरों पर कार्रवाई की गई है। उन्होंने बताया गुरुवार 10 मार्च सुबह से निश्चित समय पर मतगणना कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में होगी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static