बिस्तर की कमी के चलते कोई भी कोविड मरीज अस्पताल के बाहर न रहे: श्रीकांत शर्मा

punjabkesari.in Tuesday, Apr 27, 2021 - 09:31 AM (IST)

मथुरा: उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में सोमवार को कोरोना वायरस के 450 नए मरीजों की पुष्टि हुई तथा 4 मरीजों की इलाज के दौरान मौत हो गई। इस बीच प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने एक बैठक में जिले के स्वास्थ्य विभाग एवं प्रशासनिक अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि किसी भी मरीज को अस्पताल लाने से पहले ऑक्सीजन से लैस बिस्तर की उपलब्धता सुनिश्चित कर लें, जिससे उसे ऑक्सीजन के लिए एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल न भागना पड़े।

शर्मा ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सुनिश्चित करें कि कोई भी मरीज बिस्तर की कमी के चलते अस्पताल के बाहर न रहे और जो भी मरीज कोविड अस्पताल पहुंचे उसका शीघ्र इलाज शुरू किया जाए। शर्मा जिले में कोविड-19 के बढ़ते मामलों की वजह से सोमवार को मथुरा पहुंचे थे। उन्होंने कलक्ट्रेट सभागार में प्रशासनिक एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने निर्देश दिए कि कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुसार सभी नियमों का पालन किया जाए और कोरोना वायरस एवं मेडिकल से संबंधित शिकायतों का समय से निस्तारण सुनिश्चित हो। वहीं सोमवार को जिले में कोरोना वायरस के 450 और मरीज मिले तथा 4 संक्रमितों की मौत हो गई।

अधिकारियों ने बताया कि जिले में कुल मामले बढ़कर 12,057 हो गए हैं, जबकि बीमारी के कारण 150 मरीजों की मौत हो चुकी है। उन्होंने बताया कि जिले में 3110 मरीज संक्रमण का इलाज करा रहे हैं जबकि 8797 संक्रमित संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। इस बीच मथुरा से भाजपा सांसद और अभिनेत्री हेमामालिनी ने एक वीडियो संदेश जारी करके कहा कि इस मुश्किल वक्त में लोग धैर्य रखें और हिम्मत से काम करें। उन्होंने कहा कि  हमारे डॉक्टर अस्पताल, स्वास्थ्य कर्मी, एंबुलेंस चालक आदि अपने पूरे दम-खम के साथ काम कर रहे हैं। हमारी केंद्र व राज्य सरकारें बीमार लोगों की पूरी क्षमता के साथ सहायता कर रही हैं। फिर भी समस्याएं हैं, जिनका जल्द समाधान हो जाएगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil Kapoor

Related News

Recommended News

static