50 लाख रुपये से ज्यादा वेतन ले चुकी है फर्जी शिक्षिका, फिर भी विभाग बना मौन

punjabkesari.in Sunday, Jul 25, 2021 - 01:09 PM (IST)

फर्रुखाबाद: योगी सरकार भले ही के प्रदेश में जीरो टॉलरेंस की बात करे। परंतु प्रदेश में भ्रष्टाचार की जड़ें इतनी फैल चुकी है कि समाप्त होने का नाम नहीं ले रही हैं। ऐसा ही ताज मामला फर्रुखाबाद से सामने आया है। जहां पर बेसिक शिक्षा विभाग में एक महिला शिक्षक की फर्जी अभिलेख होने की सूचना बेसिक शिक्षा विभाग को मिली। शिक्षा विभाग ने मामले में जांच के आदेश दे दिए। कुछ दिनों के बाद महिला शिक्षक की मौत होने की सूचना शिक्षा विभाग को प्राप्त हुई। फिर विभाग की तरफ से किसी प्रकार की जांच नहीं की गई और मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। वहीं फिर पता चला कि शिक्षिका जिंदा है। जिससे विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।  बताया जा रहा है कि फर्जी शिक्षिका अब तक 50 लाख रुपये से अधिक का वेतन भी हासिल कर चुकी है।

जानकारी के मुताबिक मामला फर्रुखाबाद जिले फतेहगढ़ BSA ऑफिस का बताया जा रहा है। शैक्षिक अभिलेख और पैन कार्ड फर्जी पाए जाने पर विभाग ने शिक्षिका को नोटिस भेजा था। परंतु शिक्षिका की तरफ से मौत की सूचना मिली थी इस पर मामले की विभाग की तरफ से कोई जांच नहीं कराई गई। वहीं शिक्षिका की जिंदा होने की खबर मीडिया ने दिखाई तो अधिकारियों के होश उड़ गए। वहीं जब इस बारे में  BSA से सवाल किया गया तो सवालों के जवाब देने से बचते हुए नजर आए। कही न कही शिक्षा विभाग ने की यह बहुत बड़ी लापरवाही देखने को मिला है। अब देखना कि शिक्षा विभाग क्या कार्रवाई करता है। या जांच के नाम पर लीपापोती कर मामले को ठंडे बस्ते में डाल देता है।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static