किसान पराली नहीं जलाये, इससे उर्वरता बढ़ेगी वहीं वायु प्रदूषण भी नहीं होगा: योगी

10/22/2019 9:37:26 AM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसानों से अपील करते हुए कहा कि वह पराली आदि नहीं जलाये क्योंकि उससे जहां खेत में उर्वरता बढ़ेगी वहीं वायु प्रदूषण भी नहीं होगा। योगी ने कहा कि पराली जलाने से जहां एक ओर भूमि की उर्वरता कम होती है, वहीं दूसरी ओर वायु प्रदूषण भी होता है। 

उन्होंने कहा कि कृषि में निकले वेस्ट को वेल्थ में बदलने की आवश्यकता है। उन्होंने ने कहा कि वर्तमान सरकार किसानों के हितों को ध्यान में रखकर कार्य कर रही है। किसानों को बेहतर सुविधाएं देने के उद्देश्य से बीज से लेकर बाजार तक पारदर्शी व्यवस्था उपलब्ध करा रही है। उन्होंने कहा कि किसानों की आय को दोगुना करने के लिए आवश्यक है कि किसानों को तकनीक से जोड़ा जाए, जिससे किसान को उत्पादक से उद्यमी बनाया जा सके।  

मुख्यमंत्री आज यहां ‘द मिलियन फार्मर्स स्कूल 3.1 (किसान पाठशाला)' के पंचम संस्करण का शुभारम्भ करने के पश्चात अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने ‘द मिलियन फार्मर्स स्कूल 3.1 (किसान पाठशाला)' की पुस्तिका का विमोचन तथा ‘एप‘ भी लांच किया। उन्होंने फार्म मशीनरी बैंक एवं कस्टम हायरिंग सेन्टर के 5 लाभार्थियों को ट्रैक्टर की चाभियां वितरित की। मुख्यमंत्री जी ने ‘आर्गेनिक मैटर मिशन-2025‘ का भी शुभारम्भ किया।  

इस मौके पर उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा संचालित ‘द मिलियन फार्मर्स स्कूल' (किसान पाठशाला) के माध्यम से किसानों में जागरूकता बढ़ी है, जिसका परिणाम रहा है कि वर्ष 2018-19 में प्रदेश में 604 लाख मीट्रिक टन का रिकॉडर् खाद्यान्न उत्पादन हुआ, जिससे उत्तर प्रदेश को देश में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ। कृषि तकनीकी प्रसार के लिए राज्य सरकार द्वारा चलाये जा रहे अभिनव कार्यक्रम ‘द मिलियन फार्मर्स स्कूल' (किसान पाठशाला) की सराहना अन्तररष्ट्रीय स्तर पर की जा रही है। रबी 2017-18 से अब तक ‘किसान पाठशाला‘ के चार संस्करण आयोजित किये जा चुके हैं। इस दौरान कुल 60 हजार ग्रामों में पाठशालाओं का आयोजन कर 42 लाख से अधिक किसानों को प्रशिक्षित किया गया है। 


Ajay kumar

Related News