कमलेश तिवारी हत्याकांड: SIT ने शाहजहांपुर में की छापेमार कार्रवाई

10/21/2019 5:49:07 PM

शाहजहांपुरः उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पिछले हफ्ते हुए हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड के संदिग्ध हत्यारों की तलाश में विशेष जांच दल (एसआईटी) ने शाहजहांपुर के कई होटलों और मदरसों में छापे मारे। एसआईटी ने लखनऊ के नाका हिंडोला इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद संदिग्ध हत्यारों की तलाश के लिये शाहजहांपुर में रविवार देर रात से सोमवार दोपहर तक अनेक स्थानों पर छापामार कार्रवाई की। उसमें रेलवे स्टेशन के पास स्थित एक होटल भी शामिल है।

होटल के प्रबन्धक राजेंद्र कुमार ने बताया कि लखनऊ से आए एसआईटी के अधिकारियों ने होटल में लगे सीसीटीवी फुटेज देखी है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही सीसीटीवी फुटेज में दो संदिग्ध व्यक्ति रविवार रात 12 बजे रेलवे स्टेशन से शहर की ओर जाते हुए देख रहे हैं। रोडवेज के स्टेशन अधीक्षक सुशील त्रिवेदी ने पत्रकारों को बताया कि लखनऊ से आई एसआईटी ने आज दोपहर रोडवेज बस अड्डे पर लगे सीसीटीवी कैमरों के संबंध में जानकारी ली और यह भी पूछा कि उनका नियंत्रण कहां से हो रहा है। इस दौरान टीम के सदस्यों ने बस अड्डे पर मौजूद यात्रियों के बीच संदिग्धों की पहचान करने का प्रयास भी किया।

इस बीच, पुलिस सूत्रों ने बताया कि जानकारी में आया है कि शहर में स्थित मदरसों में भी एसआईटी ने रात में ही छापेमारी की, मगर हत्यारोपियों का कुछ पता नहीं लग सका है । सूत्रों के मुताबिक एसआईटी को लखनऊ स्थित नाका हिंडोला क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद फुटेज में भगवा कुर्ते पहने दो संदिग्धों की लोकेशन लखीमपुर खीरी के पलिया में मिली थी। एसआईटी की टीम जब वहां पहुंची तबतक वे लोग शाहजहांपुर के लिए निकल चुके थे। पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह ने दोनों पर ढाई-ढाई लाख रुपये का इनाम भी घोषित किया है।

बताया जा रहा है कि हत्यारोपियों द्वारा पलिया से बुक कराकर लाई गई कार के चालक को एसआईटी ने पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है। उससे किसी गुप्त स्थान पर पूछताछ की जा रही है। गौरतलब है कि हिन्दू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की शुक्रवार को नाका हिंडोला स्थित खुर्शेदबाग इलाके में उनके घर के अंदर गला रेतकर और गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। पुलिस का दावा है कि वारदात को अंजाम देने वाले लोग पास के ही एक होटल में ठहरे थे। दोनों ने अपना नाम शेख अशफाकुल हुसैन और मुईनुद्दीन पठान बताया था। हत्‍याकांड वाले दिन वे दोनों भगवा कुर्ते पहनकर होटल से निकले थे और उनके हाथ में एक मिठाई का डिब्‍बा था।

नाका हिंडोला में लगे सीसीटीवी कैमरे में भी वे दोनों युवक नजर आये थे। पुलिस को उनके होटल के कमरे में भगवा रंग का कुर्ता और तौलिया मिला था जिस पर खून के निशान थे। इस हत्याकांड के सिलसिले में बिजनौर निवासी आरोपियों मुफ्ती नईम काजमी और मौलाना अनवारुल हक के साथ-साथ गुजरात स्थित सूरत के रहने वाले फैजान यूनुस, मोहसिन शेख और राशिद अहमद को हिरासत में लेकर पूछताछ की गयी है। मामले की जांच एसआईटी कर रही है।
















 


Tamanna Bhardwaj

Related News