विदेशों में अपने पुत्रों को पढ़ाई करवाने वाले नेता गरीब का बच्चा न पढ़ पाए इसीलिए स्कूल जर्जर छोड़ देते थेः CM योगी

7/24/2021 12:03:58 PM

लखनऊः आबादी के हिसाब से देश के सबसे अधिक राज्य वाले उत्तर प्रदेश की राजनीति देश भर में महत्वपूर्ण स्थान रखती है। ऐसे में आगामी विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सभी दल अपनी पृष्ठभूमि को मजबूत करने में लगे हुए हैं। इसी क्रम में तीखी जुबानी जंग का दौर भी शुरू हो गया है। प्रदेश के सशक्त मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोक भवन में बेसिक शिक्षा विभाग के चयनित 6,696 सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र बांटा। उन्होंने सभी सहायक अध्यापकों को शुभकामनाएं दीं। इसके साथ ही सीएम ने किसी का बगैर नाम लिए ऐसे नेताओं पर तंज कसा जिनके बेटे विदेशों में पढ़ने जाते हैं और प्रदेश के जर्जर स्कूलों पर कोई ध्यान नहीं दिया।

सीएम योगी ने कहा कि गरीब का बच्चा न पढ़ पाए इसीलिए स्कूल जर्जर करके छोड़ दिए गए और अपने बच्चों को ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड विदेशों में भेजता है। उन्होंने कहा कि 2017 के पहले भी सरकारें थीं, क्या कर रहे थे ये लोग? प्रदेश के 1 लाख 35 बेसिक शिक्षा के स्कूल जर्जर थे। सीएम ने आगे कहा कि बजट भी था, वेतन के लिए पैसा देते थे, भवन के नाम पर पैसा जाता था, लेकिन जर्जर भवनों पर पीपल, बरगद का पेड़ उगा रहता था। सीएम ने आगे कहा कि लेकिन मार्च 2017 में हमने ऑपरेशन कायाकल्प शुरू किया। उसकी भी तमाम आलोचनाएं हुईं मगर पुरातन छात्र परिषद का गठन करके हमने छात्र, नौकरशाह या जनप्रतिनिधि, व्यवसायिक सब इसमें योगदान दें। एक-एक विद्यालय गोद लें और आज स्कूलों की स्थिति बदल गई है।  

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Moulshree Tripathi

Recommended News

static