लखनऊः प्रदर्शनकारी महिलाओं ने अस्थायी रूप से खत्म किया धरना, छोड़ा दुपट्टा व अन्य सामान

3/23/2020 4:29:41 PM

लखनऊः उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के घंटाघर में नागरिकता संशोधन कानून और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन के विरोध में प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने सोमवार को अस्थायी रूप से धरना स्थगित कर दिया। इसके बाद प्रदर्शनकारी महिलाओं ने पुलिस आयुक्त को पत्र लिखा है कि कोरोना वायरस को लेकर सरकारी आदेश के कारण वह अपना प्रदर्शन अस्थायी रूप से स्थगित कर रही हैं। महिलाओं ने यह भी कहा कि हम घंटाघर पर अपना दुपट्टा और अन्य सामान छोड़ कर जा रहे हैं जब कोरोना से देश में स्थिति सामान्य हो जाएगी फिर हम प्रदर्शन फिर से चालू करेंगे।

मुनव्वर राना की बेटी सुमैया राना ने कहा कि कोरोना वायरस को पैर पसारते देख हमने घंटाघर पर चल रहे प्रदर्शन को विराम दे दिया है। सभी ने मिलकर यह फैसला लिया है कि अभी कुछ दिनों के लिए प्रदर्शन को रोक दिया जाए। कोरोना वायरस की जंग जीतने के बाद CAA व NRC के विरोध में प्रोटेस्ट जारी रखेंगे। महिलाओं के हटते ही नगर निगम ने वहां पर सफाई व धुलाई शुरू कर दी है। बता दें कि घंटाघर पर प्रदर्शनकारियों के सामान अभी वहीं रखे हैं।

गौरतलब है कि  बीते 17 जनवरी से प्रदर्शकारी महिलाओं का प्रदर्शन घंटाघर पर जारी रहा। मगर कोरोना वायरस में भी महिलाओं ने सरकार के बचाव कार्यों पर ध्यान नहीं दिया। वहीं बीते दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनता कर्फ्यू के अवाहन का भी पालन नहीं किया गया। रविवार को भी महिलाएं प्रदर्शन में शामिल रहीं। पुलिस प्रशासन की ओर से महिलाओं को नोटिस जारी किया जा चुका था। बावजूद इसके महिलाओं ने प्रदशर्न जारी रखा। निर्देशों का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ पुलिस FIR दर्ज करने की तैयारी कर रही है। 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Ajay kumar

Recommended News

static