मनीष की पत्नी को मिला अपॉइंटमेंट लेटर, बोलीं- मुझे नौकरी नहीं चाहिए, हत्यारों की गिरफ्तारी चाहिए

punjabkesari.in Friday, Oct 08, 2021 - 12:50 PM (IST)

गोरखपुर: कारोबारी मनीष गुप्ता (Manish Gupta) की पत्नी मीनाक्षी (Meenakshi) के घर नौकरी का नियुक्ति पत्र पहुंचा। पत्र पहुंचते ही मीनाक्षी काफी भावुक हो गईं। उन्होंने कहा, मुझे नौकरी नहीं, पहले मेरे पति के हत्यारे पुलिस वालों की गिरफ्तारी चाहिए। वह जेल के भीतर जाएंगे तभी मेरे कलेजे को ठंडक मिलेगी। बड़ी बेरहमी से मेरे पति की हत्या की है। तड़पा-तड़पा कर मेरे बेगुनाह पति को मारा है। गिरफ्तारी होने पर ही मुझे और मेरे चार साल के बेटे को इंसाफ मिले सकेगा।

6 पुलिस वाले अभी भी फरार, मनीष का परिवार आहत 
दरअसल, कारोबारी मनीष गुप्ता हत्याकांड में इंस्पेक्टर समेत 6 पुलिस वाले अभी भी फरार हैं। जिससे मनीष का परिवार बेहद आहत है। पत्नी मीनाक्षी का कहना है कि उनके और परिवार के भरण-पोषण के लिए नौकरी भले ही उनकी जरूरत है, लेकिन उनकी प्राथमिकता पति मनीष गुप्ता के हत्यारे इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह, दरोगा अक्षय मिश्रा, विजय मिश्रा, दरोगा राहुल दुबे, हेड कांस्टेबल कमलेश यादव और कांस्टेबल प्रशांत कुमार हत्यारे को जेल भिजवाने के साथ कड़ी सजा दिलाना है। जब तक पुलिस वालों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती वह सड़क से लेकर सोशल मीडिया पर अपना संघर्ष जारी रखेंगी।

मनीष की पत्नी को कानपुर केडीए में ओएसडी की मिली नौकरी 
बता दें कि मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी की केडीए में ओएसडी पद की नौकरी के लिए शासन की हरी झंडी मिल गई है। शासन ने नौकरी की स्वीकृति देने के साथ ही गुरुवार को उनके घर पर नियुक्ति का लेटर भेज दिया है। जल्द ही कागजी कार्यवाही पूरी कराने के बाद उन्ही कानपुर केडीए में ओएसडी की नौकरी मिल जाएगी।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static