RSS प्रमुख भागवत के ''हिन्दू और मुसलमान का DNA एक'' वाले बयान पर विपक्ष की तीखी प्रतिक्रिया

9/9/2021 5:59:57 PM

लखनऊ: राष्ट्रीय संघ सेवक(RSS) प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि हिन्दुओं (Hindus) और मुसलमानों (Muslims) दोनों के पूर्वज एक ही है और हर भारतीय ‘हिंदू’ है। भारत (India) में अल्पसंख्यक समुदाय (Minority community) को किसी चीज से डरने की जरूरत नहीं है। उनके इस बयान पर राजनैतिक गलियारों में एक बार फिर चर्चा गर्म हो गई है, जिस पर विपक्षी नेताओं की प्रतिक्रिया (Reactions) आनी शुरू हो गई है।
PunjabKesari
मायावती ने भागवत के बयान पर उठाए सवाल
इस पर बसपा (BSP) प्रमुख मायावती (Mayawati) ने भागवत के बयान पर सवाल उठाते हुए कहा कि मैं आरएसएस (RSS) से एक बात पूछना चाहती हूं कि भारत के हिंदू और मुसलमानों के पूर्वज एक ही हैं तो बीजेपी और आरएसएस वाले मुसलमानों के साथ सौतेला व्यवहार क्यों करते हैं। इससे पहले भी भागवत के हिंदू-मुस्लिम के एक डीएनए (DNA) वाले बयान पर मायावती आरएसएस की कड़ी आलोचना की थी। 
PunjabKesari
चुनाव आ गया है तो BJP और RSS हिन्दू मुस्लिम के DNA की बात करेंगे-कांग्रेस 
कांग्रेस सीनियर प्रवक्ता सुरेन्द्र राजपूत (Surendra Rajput) ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अब चुनाव आ गया है भारतीय जनता पार्टी और RSS की तरफ से इस तरह के बयान आते ही रहेंगे। मोहन भागवत हिन्दू मुसलमान के DNA की बात करेंगे, और योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) भगवान हनुमान (Lord Hanuman) की जाती बताएंगे। कांग्रेस चुनाव (Election) में असली मुद्दों पे जाएगी। बेरोजगारी की बात होगी, किसानों के मुद्दों की बात होगी। काले कानून की वापसी की बात करेंगे।
PunjabKesari
भागवत को पहले मुसलमानो में सिर्फ आतंकवादी ही दिखते थे- प्रसपा
प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता दीपक मिश्रा (Deepak Mishra) ने कहा कि मोहन भागवत को पहले मुसलमानो में सिर्फ आतंकवादी ही दिखते थे, और कहते थे की जिनको देश छोड़ कर जाना हो वो चले जाए। अब उत्तर प्रदेश में चुनाव आ गया है तो उनको हिन्दुओं और मुसलमानों दोनों के पूर्वज एक नजर आने लगे हैं, मोहन भागवत या तो पहले सही थे अब गलत है या पहले गलत थे अब सही है।
PunjabKesari
भगवत बूढ़े हो गए है उनको रिटायरमेंट ले लेना चाहिए- राष्ट्रीय लोकदल
राष्ट्रीय लोकदल राष्ट्रीय संयोजक अनुपम मिश्रा (Anupam Mishra) ने कहा कि मोहन भागवत के बयान हमेशा आते थे कि हिन्दू और मुसलमान दोनों अलग धुरी है, अब दोनों के पूर्वज एक हो गए है। मोहन भगवत को चुनाव के समय ही यह बात क्यों याद आई। अब वो बूढ़े हो गए है उनको रिटायरमेंट ले लेना चाहिए।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Recommended News

static