मायावती ने कर्नाटक में कोविड-19 से मरने वालों के शवों को गड्ढे में फेंके जाने पर कार्रवाई की मांग की

7/1/2020 3:56:44 PM

लखनऊ, एक जुलाई (भाषा) कर्नाटक के बेल्लारी में कोविड-19 से मरने वाले लोगों के शवों को स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा एक बड़े गड्ढे में कथित तौर पर फेंके जाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा है कि यह दृश्य मानवता को शर्मसार करने वाला है।
इस वीडियो में, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) पहने कर्मी पास में खड़े एक वाहन से काली चादर में कुछ शव लाते दिख रहे हैं, जो उन शवों को एक के बाद एक बड़े गड्ढे में गिराते जा रहे हैं।

मायावती ने बुधवार को एक ट्वीट में कहा, ''''कर्नाटक के बेल्लारी में कोरोना (वायरस संक्रमण) से मौत होने के बाद शवों को गड्ढे में फेंकने की घटना और दृश्य मानवता को शर्मसार करने वाला है। कोरोना मरीजों के साथ क्रूर व्यवहार की शिकायतें तो आम बात है, किन्तु उनके शवों के साथ इस प्रकार की दरिंदगी की सजा दोषियों को वहाँ की सरकार जरूर दे।''''
जिले के एक शीर्ष अधिकारी ने मंगलवार को कहा था कि वे इस मामले की जांच कर रहे हैं। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीरामुलु इसी जिले के रहने वाले हैं।
यूट्यूब पर सबसे पहले वीडियो पोस्ट करने वाले एक व्यक्ति ने दावा किया कि यह घटना बेल्लारी की है।
वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया जिसमें मृतकों के शवों के साथ बर्ताव के तरीके की व्यापक निंदा की गई और लोगों ने मामले में कठोर कार्रवाई की मांग की।
एक चश्मदीद ने दावा किया, ‘‘सभी आठ शवों को एक ही गड्ढे में इसी तरह से फेंका गया।’’ बल्लारी के उपायुक्त एस एस नकुल ने कल कहा कि उन्होंने भी सोशल मीडिया में वायरल इस वीडियो पर संज्ञान लिया है।
उन्होंने मंगलवार को बल्लारी में संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमने जांच का आदेश दिया है।’’
भाषा


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Edited By

PTI News Agency

Related News