मौत के मुंह से निकली रीना ने बयां किया कासगंज हादसे का मंजर, कहा- हम बेहोश हो गए थे, पेट में पानी भर गया...

punjabkesari.in Sunday, Feb 25, 2024 - 03:49 PM (IST)

कासगंज: उत्तर प्रदेश के कासगंज में शनिवार को हुए बड़े हादसे में 24 लोगों की मौत हो गई। जहां मैनपुरी-बदायूं हाईवे पर श्रद्धालुओं से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली सड़क किनारे तालाब में पलट गई। सभी लोग एटा के रहने वाले थे। वहीं, मौत के मुंह से निकलकर आई एक महिला ने हादसे के खौफनाक मंजर को शब्दों  में बयां किया है।

दरअसल, कसा गांव के सतेंद्र के बेटे के मुंडन संस्कार के साथ ही गंगा स्नान के लिए लोग ट्रैक्टर-ट्रॉली में बैठकर सुबह 8 बजे कादरगंज के लिए निकले थे। ट्रॉली में 47 लोग सवार थे। इनमें महिलाएं और बच्चों की संख्या अधिक थी। ज्यादातर लोग कसा गांव के थे। कुछ लोग खिरिया, रौरी और बनार गांव के थे। लोग गंगा मैया के जयकारे लगाते हुए करीब तीस किलोमीटर का सफर तय कर दरिवयावगंज पहुंच चुके थे। ट्रैक्टर-ट्रॉली मैनपुरी-बदायूं हाइवे पर पहुंची। सुबह 9 बजकर 45 मिनट पर पटियाली की ओर करीब दो किलोमीटर आगे गड़ैया पुलिया पर संतुलन बिगड़ गया और ट्रैक्टर-ट्रॉली सड़क के बाईं ओर तालाब में पलट गई। 10 से अधिक लोग तालाब किनारे गिर गए। मगर, ज्यादातर लोग तालाब में ट्रॉली के नीचे दब गए। चीख-पुकार सुनकर राहगीर इकट्ठा हुए। ग्रामीणों की भीड़ भी जुटी।

इस हादसे में मौत के मुंह से निकली रीना बताती हैं, ट्रैक्टर पलट गया था। ट्रैक्टर वाले एक-दूसरे से आगे निकलने की कोशिश कर रहे थे। ट्रॉली में 30-40 लोग होंगे। हम बेहोश हो गए थे। पेट में पानी भर गया था। पता नहीं, हमें किसने निकाला। लोगों को रेस्क्यू करने वाले पुलिस कर्मी सुभाष का कहना है कि दो-तीन पुलिस वाले तालाब में उतरे। स्थानीय लोग भी थे। ट्रॉली पलटी हुई थी। सीधी की गई तो उसके नीचे से दो-बच्चे निकाले। और लोग भी लोग थे, जो टायर के नीचे दबे थे। जेसीबी से ट्रैक्टर निकालने के बाद उनको भी निकाला गया। 

रीना की बहन बीना ने बताया कि ट्रॉली से उछलकर किनारे में गिरीं तो चोटों के साथ सदमा भी लगा था। पानी में फंसे हुए थे। कोई बचाने वाला नजर नहीं आ रहा था। चीख-पुकार पर आसपास के लोग आना शुरू हुए। जिनमें से कुछ लोगों ने पानी के अंदर घुसकर घायलों को निकालना शुरू किया। करीब 10 मिनट तक हम दोनों बहनें कराहती-चिल्लाती रहीं। तब कहीं जाकर हमारा नंबर आया और हमें निकाला गया। इन 10 मिनट में कई बार मौत का खतरा सताता रहा।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Recommended News

Related News

static