डरावने साए को देख सहमी छात्राओं ने छोड़ा हॉस्टल, बताई ऐसी बातें कि बड़े दिल वालों के भी छूटे पसीने

punjabkesari.in Saturday, Oct 08, 2022 - 06:07 PM (IST)

झांसी: डर एक ऐसा भाव है भुलाए नहीं भूलता, ऐसा डर जो हमेशा के लिए जहन में रह जाता है। ऐसा कुछ झांसी में देखने को मिला है। जहां जिले के वीरांगना झलकारी बाई राजकीय बालिका पॉलीटेक्निक कॉलेज के एक छात्रावास में डरावना साया दिखा, जिसके बाद 63 छात्राएं हॉस्टल छोड़कर चली गई। छात्राओं के अनुसार, उन्होंने बुधवार शाम को एक साया देखा। छत पर किसी के दौड़ने की आवाज सुनी। खिड़कियों की जोरदार अवाजें और बिजली का गुल होना जैसी कई चीजों का अनुभव किया।
PunjabKesari
छात्राओं ने प्रिंसिपल से की शिकायत
पानी जब सिर से ऊपर निकल गया तो छात्राओं ने प्रिंसिपल जीएस यादव को शिकायत दी और कहा कि वे अपने परिवारों से सलाह मशविरा करने के बाद ही लौटेंगी। छात्रावास के एक कर्मचारी ने कहा, “हो सकता है कि कुछ स्थानीय लड़के हमें डराने के लिए छात्रावास परिसर में घुसे हों। छात्रावास से करीब 150 मीटर की दूरी पर एकमात्र प्रांत रक्षक दल का गार्ड तैनात है। इसके अलावा, कोई सीसीटीवी कैमरे नहीं है।”
PunjabKesari
हॉस्टल और आसपास के क्षेत्रों में निगरानी बढ़ाने का दावा 
इस बात की तत्काल कॉलेज प्रशासन और पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने सर्च ऑपरेशन चलाया, लेकिन किसी तरह का कोई सुराग नहीं मिला। पुलिस ने इस घटना के बाद हॉस्टल और आसपास के क्षेत्रों में निगरानी बढ़ाने का दावा किया, लेकिन छात्राओं में अभी भी डर बना हुआ है। हॉस्टल में पढ़ने वाली छात्राएं प्रयागराज, जालौन, लखनऊ, आगरा, कानपुर, मथुरा, ललितपुर, चित्रकूट, महोबा, बांदा, गोरखपुर, बहराइच सहित अन्य जनपदों की रहने वाली हैं।
PunjabKesari
क्या कहती है पुलिस? 
झांसी के एसपी सिटी राधेश्याम राय के मुताबिक, घटना की जानकारी मिलने के बाद पूरे परिसर की तलाशी ली गई, लेकिन किसी तरह का कोई सुराग नहीं मिला। हॉस्टल की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

PunjabKesari

हॉस्टल की सुरक्षा में चार पीआरडी जवान तैनात रहते हैं। पुलिस रात में भी हॉस्टल में गश्त करेगी। हॉस्टल में रहने वाली छात्राओं की सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static