टोकरी में सेहरा…हाथ में पैंट लेकर दुल्हनियां लेने निकले दूल्हे राजा, दो-दो फीट पानी में चले बाराती

punjabkesari.in Wednesday, Aug 04, 2021 - 11:56 AM (IST)

फर्रूखाबाद: विवाह हो या निकाह, शानदार लिबास पहनना, खुद को बेहद खूबसूरत दिखाना हर दूल्हे का सपना होता है। लेकिन कुदरत के आगे किसी का जोर नहीं चलता। फर्रुखाबाद जिले में बाढ़ का कहर इस तरह से है कि लोगों को अब शादी ब्याह में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कुछ ऐसा ही वाकया बाढ़ के पानी से घिरे गांव पंखिया नगला में देखने को मिला। जहां एक दूल्हा टोकरी में सेहरा, हाथ में पैंट लेकर अपनी दुल्हनिया लेने निकल पड़ा। दो-दो फीट पानी में चले बराती। बाढ़ की वजह से बगैर पैंट और सेहरे के दूल्हा घर से निकला। बराती भी आधे कपड़ों में बाढ़ के पानी के बीच दूसरे गांव तक पैदल गए। वहां दूल्हे को पैंट व सेहरा पहनाया गया फिर बारात उन्नाव के लिए रवाना हो गई। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है।

PunjabKesari
दरसल, मऊदरवाजा थाने के गांव पंखिया नगला के यासीन खां ने बेटे मोहसिन का निकाह जनपद उन्नाव के शुक्लागंज में तय किया गया। काजी ने निकाह के लिए मंगलवार की तारीख तय की। लेकिन न तो दूल्हे को पता था और न दुल्हन को कि इस तारीख को दोनों के परिजनों को किस दौर से गुजरना होगा। इन दिनों गांव में गंगा की बाढ़ का पानी भरा है। उसके एक किमी दूर तक दो-दो फीट पानी है।

PunjabKesari
मोहसिन की बरात की रवानगी हुई तो बहनोई न तो शेरवानी और न ही सेहरा पहनाने की रश्म अदा कर सके। दूल्हे को पैदल ही हाथ में पैंट थाम कर बाढ़ का पानी पार करना पड़ा। बराती व परिजन भी कुछ इसी तरह बाढ़ के पानी में चलकर गांव बिलावलपुर तक पैदल ही गए। जिसके बाद पैंट और सेहरा पहनाया गया। यहां तक दूल्हे का सेहरा एक टोकरी में रखकर परिवार के लोग लेकर आए इसके बाद बरात कारों से रवाना हुई। इन सारी दिक्कतों को पार करते हुए दूल्हा अपने वारातियों के साथ दुल्हन लेने निकल पड़ा साथ ही साथ धूमधाम से हुआ निकाह।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Related News

Recommended News

static