वाराणसी में गंगा प्रदूषण नियंत्रण कार्यों की धीमी पड़ी रफ्तार, मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी ने जताई नाराजगी

punjabkesari.in Tuesday, Jun 22, 2021 - 09:54 PM (IST)

वाराणसी: उत्तर प्रदेश के वाराणसी में गंगा प्रदूषण नियंत्रण के कार्यों की धीमी रफ्तार पर मंगलवार को राज्य के मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने नाराजगी जताई। इसके साथ ही उन्होंने कार्यदायी संस्थाओं को सुरक्षा सतकर्ता बरतते हुए निर्धारित समय पर काम पूरा करने का निर्देश दिया है।       

तिवारी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से यहां के विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल से कहा कि जल निगम के कार्यों की गुणवत्ता की जांच करने के साथ ही कार्यदायी संस्थाओं को बचे हुए कार्य तेजी से पूरा करवाने की दिशा में गंभीरता से काम किया जाए। समीक्षा बैठक के दौरान यहां आयुक्त सभागार में अग्रवाल के अलावा जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा, वाराणसी उपाध्यक्ष विकास प्राधिकरण ईशा दुहन सहित विभिन्न विभाग के उच्चाधिकारियों ने मौजूद थे।       

मंडलायुक्त ने जिले के 10 करोड़ से अधिक लागत के निर्माण कार्यों के पूर्ण हो चुके एवं आगे किस-किस माह में पूर्ण होंगे तथा विलंब के कारणों की विस्तार से जानकारी दी। बैठक में महत्वपूर्ण परियोजनाओं की विभागवार उपयोगिता प्रमाण पत्र के भेजने, धनराशि अवमुक्त की स्थिति, पूर्ण हो चुकी परियोजनाओं में मानव संसाधन/उपकरण/फर्नीचर आदि की स्थिति तथा शासन में स्वीकृति के लिए प्रस्तावित महत्वपूर्ण परियोजनाओं की समीक्षा की गई। अग्रवाल ने समीक्षा बैठक के बाद सभी विभागीय अधिकारियों एवं कार्यदायी संस्थाओं को निर्देशित किया कि उनका किसी परियोजना का कोई प्रकरण यथा-धन के अवमुक्त होने, प्रशासनिक स्वीकृति आदि कोई लंबित हो तो आयुक्त एवं जिलाधिकारी के माध्यम से शासन में पत्राचार करें और बाकी बचे हुए कार्यों को युद्ध स्तर पर पूरा करें।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Related News

Recommended News

static