कोर्ट के सामने ही भिड़ गए सपा-भाजपा के कार्यकर्ता, पुलिस संग की अभद्रता

punjabkesari.in Friday, Jul 02, 2021 - 06:16 PM (IST)

इटावाः उत्तर प्रदेश में सपा-भाजपा के बीच पंचायत चुनाव को लेकर सियासी घमासान जारी है इस घमासान में दोनों ही पार्टी के नेता हर हथकंडे अपना रहे हैं। इसी बीच इटावा में बीते 22 जून को 1 बीडीसी सदस्य के अचानक गायब हो जाने के बाद उसके पिता ने सपा कार्यकर्ता पर उसके अपहरण को लेकर बढ़पुरा थाने में मुकदमा दर्ज करवाया गया था आज पुलिस ने बीडीसी सदस्य को बरामद कर कोर्ट में पेश किया तो कोर्ट के गेट पर सपा व भाजपा के नेताओं का जमावड़ा लग गया,जिसके बाद भारी पुलिस बल तैनात होने के बाद भी दोनों पार्टी के कार्यकर्ता आपस मे भीड़ गए और दोनों के बीच जमकर मारपीट हुई।

बता दें कि बाद में पुलिस के बीच बचाव के बाद मामला शांत करवाया गया,लेकिन ये जंग यह खत्म नही हुई और मौके पर सदर विधानसभा सीट से भाजपा विधायक सरिता भदौरिया व नवनिर्वाचित व निवर्तमान जिला पंचायत सदस्य व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के चचेरे भाई अभिषेक यादव उर्फ अंशुल मौके पर पहुंचे जहां दोनों के बीच जमकर जुबानी जंग चलती रही,इस बीच कोर्ट में पेश बीडीसी सदस्य बयान की प्रक्रिया पूरी होने के बाद अपने पिता के साथ घर चला गया और मामला शांत हो सका। लेकिन पूरे मामले में दोनों पार्टी के कार्यकर्ता पुलिस के साथ अभद्रता करते हुए दिखाई दिए सदर में रहे सीओ सिटी राजीव प्रताप सिंह के साथ भी दोनों पार्टी के कार्यकर्ता अभद्रता करते हुए दिखाई दिए पूरे मामले की घटना वीडियो में कैद हो गई।

पूरे मामले के बारे में समाजवादी पार्टी के नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष अंशुल यादव ने बताया कि भाजपा के लोग बीडीसी सदस्य को कार्यालय से अपने साथ ले जाना चाह रहे थे जिसका हम ने विरोध किया तो उनके कार्यकर्ताओं के लोगों ने हम लोगों पर हमला कर दिया हम चाहते हैं कि न्यायालय ने जो फैसला लिया है उस फैसले के तहत बीडीसी सदस्य हो अपनी मनमर्जी से जाने दिया जाए लेकिन भाजपा के लोग उसको अपने साथ ले जा रहे थे जिसको लेकर पूरा बवाल हुआ।

 

वहीं इस बाबत भाजपा के जिला अध्यक्ष अजय धाकरे ने समाजवादी पार्टी पर आरोप लगाया है कि उन्हीं के द्वारा बीडीसी सदस्य का अपहरण किया गया था और आज समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता न्यायालय के फैसले के बाद बीडीसी सदस्य को अपने साथ ले जाना चाह रहे थे जबकि उसके माता-पिता लें हमारे पास आकर सपा के नेता पर अपने बेटे का अपहरण करने का आरोप लगाया था जब सपा के लोग बीडीसी सदस्य को अपने साथ ले जा रहे थे तब हम लोगों ने विरोध किया और पूरा झगड़ा बढ़ा।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static