मंदिर में मत्था टेक अखिलेश बोले- संत रविदास की विचारधारा को बढ़ाने के लिए सपा कृतसंकल्‍प

2/27/2021 5:54:57 PM

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को वाराणसी में सीरगोवर्धन स्थित संत रविदास मंदिर पहुंच कर श्रद्धासुमन अर्पित किया और कहा कि संत रविदास की समता, बंधुत्व, सौहार्द और भेदभाव के विरोध की विचारधारा को आगे बढ़ाने के लिए समाजवादी पार्टी कृतसंकल्प है।

समाजवादी पार्टी के प्रदेश मुख्‍यालय से शनिवार को जारी बयान के अनुसार, वाराणसी में मंदिर के मुख्‍य द्वार पर रैदासियों ने अखिलेश यादव का स्वागत किया और मंदिर के मुख्य रैदासी स्वामी निरंजन दास ने अखिलेश यादव को आशीर्वाद दिया। यादव ने लंगर में प्रसाद भी ग्रहण किया।

यादव ने कहा, ''संत रविदास जी समाज सुधारक, महान क्रांतिकारी और स्वतंत्र चिंतक थे और उन्होंने पाखंड और कुरीतियों का डटकर विरोध किया। समाज में एकता, भाईचारा और समानता के लिए उनका पूरा जीवन समर्पित रहा, उनके अनुसार मानव सेवा ही वास्तविक धर्म है।'' पूर्व मुख्‍यमंत्री ने कहा, ''संत रविदास के अनुयायी देश के सभी हिस्सों में मौजूद हैं। संत रविदास श्रम की प्रतिष्ठा को सर्वोपरि मानते थे और उन्‍होंने भाईचारा, सद्भावना, समानता और करूणा का संदेश दिया। ‘मन चंगा तो कठौती में गंगा' का सूत्र देने वाले संत रविदास का जीवन दर्शन पूरे समाज के लिए प्रेरणादायक है।''

समाजवादी पार्टी प्रदेश कार्यालय लखनऊ में भी संत रविदास की जयंती सादगी से मनायी गयी और उनके चित्र पर नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र चौधरी, पूर्व मंत्री के के. गौतम ने पुष्पांजलि अर्पित की।


Content Writer

Umakant yadav

Related News