UP: काकोरी काण्ड के महानायक रोशन सिंह का लोगों ने मनाया 129 वां जन्मदिन, दी श्रद्धांजलि

1/22/2021 1:48:59 PM

जौनपुर: उत्तर प्रदेश में जौनपुर के सरावां गांव में स्थित शहीद लाल बहादुर गुप्त स्मारक पर आज हिन्दुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन आर्मी व लक्ष्मी बाई ब्रिगेड के कार्यकर्ताओं ने काकोरी काण्ड के महानायक ठाकुर रोशन सिंह का 129 वां जन्मदिन मनाया। कार्यकर्ताओं ने शहीद स्मारक पर मोमबत्ती व अगरबत्ती जलाई और दो मिनट का मौन रखकर आजादी के लड़ाई के पुरोधा एवं काकोरी काण्ड के महानायक को श्रद्धांजलि दी।

क्रांति स्तम्भ पर मौजूद लोगों को सम्बोधित करते हुए लक्ष्मी बाई ब्रिगेड की अध्यक्ष मंजीत कौर ने कहा कि देश की आजादी की लड़ाई में बढ़ चढ़कर भाग लेने वाले क्रांतिकारी ठाकुर रोशन सिंह का जन्म उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले के नवादा गांव के आज ही के दिन 1892 में हुआ था । वे युवावस्था में अच्छे निशाने बाज और पहलवान थे । उनका जुड़ाव आर्य समाज के साथ रहा । असहयोग आंदोलन के दौरान बरेली गोलीकांड में इन्हें दो साल की सजा हुई । छूटने के बाद वे महान क्रांतिकारी पंडित रामप्रसाद बिस्मिल से मिले , उन्हें एक निशानेबाज की तलाश थी ।

बता दें कि उस समय चार महान क्रान्तिकारियो राजेंद्र नाथ लाहिणी , पंडित राम प्रसाद बिस्मिल, अशफ़ाक़ उल्लाह खान और ठाकुर रोशन सिंह ने खजाना लेकर जा रही ट्रेन को लखनऊ के काकोरी में 09 अगस्त 1925 में लूटकर बर्तानियां हुकूमत को ललकारा और 6065 रूपये किसान मजदूरों का है कहते हुए अंग्रेजो को नहीं ले जाने दिया जिससे अंग्रेजों ने उन्हे गिरफ्तार किया और इन चारों देश के सपूतों को फांसी दे दी गयी। राम प्रसाद बिस्मिल को गोरखपुर, ठाकुर रोशन सिंह को केन्द्रीय कारागार नैनी तथा अशफाकउल्लाह खान को फैजाबाद जेल में 19 दिसम्बर 1927 को फांसी दी गयी थी। उन्होने कहा कि इस काण्ड के महानायक राजेन्द्र नाथ लहिड़ी को दो दिन पूर्व यानी 17 दिसम्बर 1927 गोण्डा जेल में फांसी दी गयी थी।

 


Moulshree Tripathi

Related News