अनामिका शुक्ला प्रक्ररण के बाद एक्शन में योगी सरकार- UP के हर शिक्षक के दस्तावेजों की होगी जांच

punjabkesari.in Monday, Jun 15, 2020 - 11:36 AM (IST)

लखनऊः यूपी में शिक्षा भर्ती को लेकर हुए फर्जीवाड़े पर योगी सरकार सख्त दिखाई दे रही है। जिसके चलते सीएम योगी ने प्रदेश में कार्यरत सभी शिक्षकों के डाक्यूमेंट्स वेरिफिकेशन के निर्देश दिए हैं। जानकारी के लिए बता दें कि यूपी के इन संस्थानों में मौजूदा वक्त में 6.53 लाख शिक्षक कार्यरत हैं।

इस बारे में अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि सीएम ने सभी स्कूलों के शिक्षकों के शैक्षणिक दस्तावेजों की जांच के लिए एक समर्पित टीम बनाने का निर्देश दिया है। बेसिक, माध्यमिक और उच्च शिक्षण संस्थानों, समाज कल्याण विभाग के विद्यालयों और कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों के शिक्षकों के शैक्षणिक दस्तावेजों की जांच के लिए एक 'डेडिकेटेड टीम' बनाने का निर्देश दिया है। जो भी डिफाल्टर मिले उसके खिलाफ़ सख्त कार्रवाई करने के लिए निर्देश हैं।

उन्होंने बताया कि योगी ने यह भी कहा कि अगर कहीं पर भी कोई व्यक्ति फर्जी दस्तावेजों पर नौकरी करता हुआ पाया जाए तो उसके खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जाए। मुख्यमंत्री ने यह निर्देश ऐसे समय दिए हैं जब राज्य में अनामिका शुक्ला प्रकरण चर्चा में है। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में अनामिका शुक्ला के दस्तावेज पर अलग-अलग महिलाओं द्वारा नौकरी करके वेतन लेने के मामले सामने आए हैं। पुलिस का विशेष कार्यबल इसकी जांच कर रहा है।

इसकी जानकारी देते हुए अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने आदेश दिए हैं कि प्रदेश में जितने भी शिक्षक हैं, चाहे वो माध्यमिक शिक्षा में हों, उच्च शिक्षा में या बेसिक शिक्षा में हों, उन सभी के डोक्यूमेंट की जांच के लिए डेडिकेटेड टीम बनाई जाए, कोई भी फर्जी पाया जाए तो उनपर कार्रवाई की जाए। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static