अपने बच्चे को जंजीरो में बांधने को मजबूर है बेबस मां, ये है वजह

Sunday, June 11, 2017 4:59 PM

मेरठ(आदिल रहमान): उत्तर प्रदेश में मेरठ जिले के मवाना गांव में एक बेबस मां अपने बच्चे को जंजीरों से बंधने पर मजबूर है। जंजीरों में बंधे मासूम को न तो किसी जुर्म की सजा के लिए बांधा गया है और न ही इसने कोई गुनाह किया है। मासूम का गुनाह सिर्फ इतना है कि इसने एक गरीब परिवार में जन्म लिया और अब यह परिवार उसका इलाज कराने में लाचार है। मजबूर मां ने अपनी लाचारी के चलते इलाज के बदले में अपने ही बेटे के पैरों में लोहे की जंजीरें डाल दी हैं।

जानकारी के अनुसार मासूम बच्चा बचपन में एक हादसे का शिकार हो गया था। हादसे में इसके सिर में चोट लग गई और इसके दिमाग की हड्डी में फ्रैक्चर आ गया। अभी इस युवक की उम्र महज 15 साल है। मजदूर माता-पिता से जितना भी हो पाया उन्होंने इसका इलाज कराया। लेकिन मासूम के इलाज के लिए और पैसों की जरुरत थी जो ये गरीब माता-पिता पूरी नहीं कर सके और मासूम के इलाज को बीच में ही रोकना पड़ा।

अब जब सचिन बड़ा हो गया तो गली व मोहल्ले के लोग इसका मजाक उड़ाने लगे। कोई मासूम को सिगरेट पिलाता तो कोई शराब तो कोई पत्थर मारता। जब इस बात की जानकारी सचिन की मां को हुई तो उसका कलेजा कांप उठा और उसने अपने बेटे को लोगों के मजाक से बचाने के लिए उसके पैरों में लोहे की जंजीरें डाल दी। अब मासूम की मां जहां भी जाती सचिन जंजीर पकड़कर अपनी मां के साथ ही जाता है।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!