सड़क हादसों में जान गंवाने वाले 52 प्रतिशत युवा, आंकड़ों से लें सबकः सुरेश खन्ना

punjabkesari.in Tuesday, Jan 24, 2023 - 09:34 PM (IST)

लखनऊ: वित्त एंव संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने सड़क हादसे पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा है कि सड़क हादसे में सबसे ज्यादा जान गंवाने वाले युवा हैं। करीब 52 फीसद युवा हादसों से काल के गाल में समा जाते हैं। इनकी उम्र 18 से 35 वर्ष के बीच है। यह काफी चिंताजनक है। ऐसे में युवाओं को इन आंकड़ों से सबक लेना चाहिए। वाहनों को चलाते वक्त यातायात नियमों का पालन करना चाहिए। जीवन रक्षा के लिए सड़क सुरक्षा के नियमों को ध्यान में रखना होगा।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती के मौके पर बोल रहे थे खन्ना
संसदीय कार्यमंत्री सोमवार को लामार्टिनियर ग्राउंड पर आयोजित नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती के मौके पर बनाई गई मानव श्रृंखला एवं शपथ ग्रहण समारोह मैं बोल रहे थे। उन्होंने मौजूद लोगों को सड़क सुरक्षा नियमों की शपथ भी दिलायी। कार्यक्रम की शुरुआत ठीक 11 बजे हुई। मौजूद जनसमूह और छात्रों ने हाथ से हाथ पकड़कर मानव श्रृंखला बनायी। प्रमुख सचिव परिवहन वेंकटेश्वर लू द्वारा कार्यक्रम की संक्षिप्त रूपरेखा से अवगत कराया गया।

सड़क सुरक्षा नियमों को अपने जीवन में उतारने का काम करें युवाः परिवहन मंत्री
विशिष्ट अतिथि परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह ने युवाओं से कहा कि वे सड़क सुरक्षा नियमों को अपने जीवन में उतारने का काम करें। सड़क सुरक्षा एवं यातायात नियमों को पालन न केवल युवा बल्कि अभिभावकों को भी करना चाहिए। छात्रों को सड़क सुरक्षा क्षेत्र में तकनीकी सुधारों के बारे में नये आयामों को खोजे जाने में रुचि दिखानी चाहिए। बेसिक एवं माध्यमिक शिक्षा मंत्रियों ने सड़क सुरक्षा के नियमों को छात्र जीवन से ही सिखाये जाने पर बल दिया।

राष्ट्रगान के साथ हुआ कार्यक्रम का समापन, ये लोग रहे मौजूद
कार्यक्रम में माध्यमिक शिक्षा राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार गुलाबो देवी, बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार संदीप सिंह, प्रमुख सचिव परिवहन वेंकटेश्वर लू, परिवहन निगम के एमडी संजय कुमार, उप परिवहन आयुक्त लखनऊ परिक्षेत्र निर्मल प्रसाद, आरटीओ प्रशासन आरपी द्विवेदी, एआरटीओ प्रशासन अखिलेश द्विवेदी सहित परिवहन विभाग और परिवहन निगम के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे। कार्यक्रम के अंत में राष्ट्रगान के बाद समापन अपर परिवहन आयुक्त सड़क सुरक्षा पीएस सत्यार्थी ने किया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ajay kumar

Related News

Recommended News

static