प्रशासन के बाद अब माघ मेले में आए साधु संत कोरोना गाइडलाइंस पालन करने की कर रहे अपील

punjabkesari.in Sunday, Jan 16, 2022 - 02:46 PM (IST)

प्रयागराज: पूरे देश में कोरोना के नए मामलों में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है। बीते 24 घंटों में 2 लाख 71 हज़ार से अधिक मामले सामने आए है, जबकि 314 लोगों की मौत हो गई है। इसी कड़ी में संगम के तट पर चल रहे माघ मेले में भी लगातार कोरोना संक्रिमतों के मिलने का सिलसिला जारी है। देश के कोने कोने से आ रहे श्रद्धालु एक बार फिर से लापरवाही बरतते हुए नजर आ रहे हैं ना तो चेहरे पर मास्क है और ना ही सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल। हालांकि प्रशासन जगह जगह पर मुस्तैद है और श्रद्धालुओं से कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने के लिए गुज़ारिश करता दिख रहा है।

श्रद्धालु गाइडलाइन का पालन करने के लिए साधु संत भी गुहार लगाते हुए नजर आ रहे हैं। माघ मेले में आए साधु संत अब अपील कर रहे हैं कि जो भी श्रद्धालु संगम तट पर है वह कोरोना गाइडलाइंस का पालन जरूर करें। चेहरे पर मास्क लगाएं और सरकार द्वारा जारी किए गए नियम का पालन करें। अमेठी से आए शिव योगी मोनी बाबा सभी श्रद्धालुओं से अपील करते हुए कहा है कि 47 दिनों तक चलने वाले इस माघ मेले में जो भी श्रद्धालु संगम तट पर आये। उससे पहले वह अपनी कोरोना जांच और कोरोना गाइडलाइंस का पालन ज़रूर करते रहे।

साधु संतों के द्वारा की जा रही अपील से श्रद्धालु भी जागरूक नजर आ रहे हैं। जौनपुर से आए श्रद्धालु कहना है कि साधु संत भी जागरूक कर रहे हैं जो बड़ी बात है, क्योंकि जो भी श्रद्धालु माघ मेले में आता है या गंगा में स्नान करता है। आस्था की डुबकी लगाता है जिसके बाद वह साधु संतों से आशीर्वाद देता है। ऐसे में जागरूक श्रद्धालु भी अपील करते हुए नजर आ रहे हैं।

गौरतलब है कि 14 जनवरी से 1 मार्च तक संगम की रेती पर देश का सबसे बड़ा धार्मिक मेला माघ मेला लगा हुआ है और इस दौरान 6 स्नान पर्व प्रस्तावित है, जिसमें श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगाते हुए नज़र आएंगे। ऐसे में देखना होगा कि प्रशासन के बाद अब साधु संतों द्वारा लगाई जा रही गुहार श्रद्धालुओ के लिए कितना कारगर साबित होती है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static