बदहाल स्वास्थ्य सेवाएंः पहले नहीं मिला स्ट्रेचर और फिर नसीब नहीं हुआ बेड, परेशान बेटे ने फर्श पर ही लिटाया

5/7/2021 1:47:08 PM

अम्बेडकरनगर: इस कोरोना महामारी के बीच अम्बेडकरनगर में स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल हैं, जिला अस्पताल की हालत बद से बदत्तर हो गई है, यहां बेड ऑक्सीजन और स्ट्रेचर के लिए हाहाकार मचा है। जो तस्वीरे सामने आई वो दिल दहला देने वाली है। यहां इलाज के अभाव में महिला पत्रकार के पति की मौत हो गई। तो वहीं यहां इलाज के लिए आई एक बुजुर्ग महिला को पहले तो स्ट्रेचर नहीं मिला बुजुर्ग के साथ आए उसके पुत्र ने उसे गोद में लेकर दाखिल हुआ तो वहां बेड नहीं मिला। 

जिसके बाद महिला को फर्श पर लिटा दिया गया। बुजुर्ग महिला प्यास से तड़पती रही पानी के लिए पुकार लगाती रही, लेकिन उसकी सुध लेने वाला कोई नही था और बुजुर्ग महिला घण्टो फर्श पर पड़ी तड़पती रही और अपनी प्यास बुझाने के लिए पानी पिला दो कोई पानी पिला दो की रट लगाए फर्श पर ही तड़पती दिखी। सांस फूलने से परेशान एक मरीज एम्बुलेंस से जिला अस्पताल पहुंचा तो डॉक्टरों ने भर्ती करने से इंकार कर दिया, जबकि उसे ऑक्सीजन की आवश्यकता थी और मरीज कोरोना निगेटिव था फिर भी भर्ती करने से इनकार कर दिया गया और उसके साथ बदसलूकी भी की गई।

वहीं एक महिला पत्रकार ने आरोप लगाया है कि इलाज नहीं मिलने से उनके पति की मौत हो गई। महिला पत्रकार का आरोप है कि डॉक्टरों ने उनके पति को बिना देखे ही भर्ती करने से इंकार कर दिया और मेडिकल कॉलेज के जाने को कहा, लेकिन इस दौरान इलाज के अभाव में महिला पत्रकार के पति की मौत हो गई।

भले ही स्वास्थ्य विभाग बार-बार ऑल इज वेल का दावा कर रहा हो, लेकिन अस्पताल से आ रही वीडियो और तमीरदारों के आरोप ऑल इज वेल का ढिढोरा पीटने वालो की पोल खोलने के लिए काफी है। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Recommended News

static