विधेयक किसानों की दशा और दिशा बदलने में साबित होगा महत्वपूर्ण: मौर्य

9/24/2020 6:39:36 PM

अमरोहा: उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने संसद में मानसून सत्र के दौरान कृषि सुधार से संबंधित तीनों विधेयकों के पारित होने पर विपक्ष के विरोध को औचित्यहीन बताते हुए कहा कि ये महत्वपूर्ण विधेयक किसानों की दशा और दिशा बदलने में महत्वपूर्ण साबित होंगे। मौर्य ने गुरूवार को यहां पहुंच कर 44 सड़कों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि कृषि संशोधन विधेयक किसानों की दशा और दिशा बदलने में महत्वपूर्ण साबित होंगे। विपक्ष के विरोध को औचित्यहीन बताते हुए तीनों विधेयक किसान हित में है। उन्होंने विपक्ष के विरोध को नकारात्मक और बौखलाहट का परिचायक बताया। 

 उन्होंने बताया कि मानसून सत्र के दौरान कृषि सुधार से संबंधित जिसमें मंडी कानून से अलग कांट्रैक्ट खेती विधेयक के पास हो जाने से कृषि जगत में क्रांतिकारी परिवर्तन आएंगे। उन्होंने विपक्ष से सवाल किया कि किसान अपनी उपज कहीं भी किसी को भी बेचता तो ऐसे में विरोध के पीछे विपक्ष का नीयत और नजरिया क्या है।खेतीबाड़ी से मोहभंग होने से चिंतित किसान यदि खुद अपनी फसल बगैर बिचौलियों के बेचेगा तो स्वाभाविक रूप से किसान और खेती हक में होगा। उन्होंने सरकार की प्रतिबद्धता दोहराते हुए कहा कि किसानों का हित सर्वोपरि है। श्री मौर्य ने कहा कि सरकार लगातार इस ओर प्रयासरत है कि गांवों में रोजगार के साधन उपलब्ध हो,‘ताकि शहर चलें गांव की ओर'का सपना साकार हो सके ।

उन्होंने बताया कि आजादी के बाद पहली बार उत्तर प्रदेश सरकार, गांवों में रहने वालों को मालिकाना हक देने जा रही है। अभी तक बैंकों की नजर में ग्रामीण प्रॉपर्टी का मूल्यांकन कमतर आंका जाता रहा है। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के 1,08,937 राजस्व गांव में से 82,000 गांवों में जनसंख्या के सर्वेक्षण का तेजी से कार्य चल रहा है। उपमुख्यमंत्री ने यहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मंडल पदाधिकारी ओर समन्वय समिति के साथ बैठक कर नौगावां सादात विधानसभा सीट पर होने वाले उप चुनाव को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं से मंत्रणा की। यह उपचुनाव विधानसभा में संख्या के हिसाब से भले ही मायने नहीं रखता हो,लेकिन लोकसभा चुनावों में मुरादाबाद मंडल की सभी छहों सीट गंवाने से चिंतित पार्टी फूंक फूंक कर फैसला ले रही है। पार्टी के समक्ष साख बचाने की चुनौती इस बार कम नहीं है। इसी के मद्देनजर उप मुख्यमंत्री ने मीटिंग का ऐजेंडा रखा था।

मौर्य ने इस अवसर पर लोक निर्माण विभाग की विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करते समय हसनुपर-अतरासी-अमरोहा सड़क का नाम उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनट मंत्री स्वर्गीय श्री चेतन चैहान के नाम पर रखे जाने की घोषणा की। उप मुख्यमंत्री ने सर्वप्रथम क्रिकेट को राष्ट्रीय एवं अन्तररष्ट्रीय स्तर पर आगे बढ़ाने वाले व अपने कार्यकाल के दौरान किए गए कार्यों को याद करते कहा कि मौजूदा तथा आने वाली पीढी को लंबे अरसे तक उनकी याद बनी रहे इसलिए आज अमरोहा के मुख्य मार्गों में से एक हसनपुर-अतरासी-अमरोहा मार्ग का नाम श्री चेतन चौहान के नाम पर रखे जाने की घोषणा की जाती है। इस संबंध में उक्त मार्ग की संस्तुति भेज दी गयी है।

 

 


Ramkesh

Related News