ब्लैक फंगस से बचाव एवं इलाज का गहन परीक्षण करने के लिए बनाई गई समिति: खन्ना

punjabkesari.in Friday, May 21, 2021 - 09:38 PM (IST)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने ब्लैक फंगस से बचाव एवं इलाज का गहन परीक्षण करने के लिए लखनऊ एसजीपीआई के निदेशक डा0 राधा कृष्ण धीमान की अध्यक्षता में एक समिति बनायी जा रही है। प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने आज यहां संवाददाताओं से कहा कि म्यूकार माई कोसिस (ब्लैक फंगस) के संबंध में और अधिक गहराई से इसके बचाव व इलाज का परीक्षण करने के लिए एसजीपीजीआई, के निदेशक, डा0 राधा कृष्ण धीमान के नेतृत्व में एक कमेटी गठित की जा रही है। समिति ब्लैक फंगस बीमारी से संबंधित सभी पहलूओं पर विचार करते हुए रिपोटर् प्रस्तुत करेगी।       

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कोविड़-19 महामारी के संक्रमण को रोकने एवं संक्रमित लोगों के इलाज के लिए पूरी सक्रियता के साथ कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 24 अप्रैल को एक दिन में सर्वाधिक 38055 केस के सापेक्ष आज एक दिन में 7735 केस सामने आए है। इस प्रकार लगभग 31 हजार की कमी आयी है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में प्रदेश में कोरोना संक्रमण से रिकवरी दर 92.5 प्रतिशत है। प्रदेश में टेस्टिंग क्षमता में बढ़ातें हुए प्रतिदिन 2.5 लाख से अधिक लगभग तीन लाख टेस्ट किए जा रहे है।       

चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने बतया कि प्रदेश में वैक्सीनेशन का कार्य तेजी से किया जा रहा है। वर्तमान में प्रदेश में 23 जिलो में वैक्सीनेशन का कार्य चल रहा है। शीघ्र ही प्रदेश में सभी जिलो में शुरू की दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि अबतक 1,58,41,256 लोगों का टीकाकरण किया गया है। अबतक 18 से 44 आयुवर्ग के 8,52,934 लोगों को टीकाकरण किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना संक्रकण के सम्बन्ध में हर स्तर पर पूरी सक्रियताके साथ कार्य कर रही है। श्री खन्ना ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन्स यथा सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क का प्रयोग आदि का पालन करें। अनावश्यक रूप से घरों से बाहर न निकलें।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Related News

Recommended News

static