मोस्टवांटेड विकास दुबे के 3 साथी कोर्ट में पेश, ट्रांजिट रिमांड पर भेजने का आदेश

7/8/2020 5:29:56 PM

कानपुर/फरीदाबादः उत्तर प्रदेश के कानुपर में मुठभेड़ में हुई आठ पुलिसकर्मियों की मौत के मामले में मुख्य आरोपी हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के तीन साथियों अंकुर, श्रवण और प्रभात मिश्रा को फरीदाबाद पुलिस की अपराध शाखा ने गिरफ्तार कर बुधवार को न्यायिक मजिस्ट्रेट मोहम्मद जकारिया खान की अदालत में पेश किया। अदालत ने दो को न्यायिक हिरासत में भेजने जबकि एक को ट्रांजिट रिमांड पर सौंपने का आदेश दिया।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि अदालत ने इन तीनों में से दो अंकुर और श्रवण को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया, जबकि दुबे के भांजे प्रभात मिश्रा को अदालत ने कानपुर के चौबेपुर थाना के उप निरीक्षक देवेंद्र सिंह के अनुरोध पर एक दिन की ट्रांजिट रिमांड पर सौंपा है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि मिश्रा से उप्र एसटीएफ पूछताछ करेगी। उन्होंने बताया कि श्रवण और अकुंर पिता-पुत्र हैं और उनके खिलाफ खेरी पुल थाने में मामला दर्ज किया गया है। सूत्रों के अनुसार, विकास दुबे पांच जुलाई को ही यहां पर पहुंच गया था। वह पहले इंदिरा एन्क्लेव में अपने रिश्तेदार अंकुर के पास ठहरा, बाद में वह किसी होटल में रहने चला गया।

पुलिस ने बताया कि उन्हें इंदिरा एन्क्लेव से ही सुराग हाथ लगा था, जिसके बाद अंकुर को हिरासत में लिया गया। उसने दुबे के होटल में ठहरे होने की सूचना दी। फऱीदाबाद पुलिस ने छापेमारी की और वहां से प्रभात उर्फ़ कार्तिकेय को गिरफ्तार किया। इस बीच दुबे वहां से फरार हो चुका था। विकास दुबे गत दो-तीन जुलाई की मध्यरात्रि को कानपुर के बिकरू गांव में दबिश देने गई पुलिस टीम पर हमला कर 8 पुलिसकर्मियों की हत्या किए जाने का मुख्य आरोपी है। उस पर ढाई लाख रुपए का इनाम घोषित है। वह अभी पुलिस की पकड़ से बाहर है।


Tamanna Bhardwaj

Related News