कुशीनगर: मुस्लिम समर्थक के जनाजे को BJP विधायक ने दिया कंधा, कहा- दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

punjabkesari.in Monday, Mar 28, 2022 - 11:56 AM (IST)

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को पूर्ण बहुमत मिलने पर कुशीनगर जिले में मिठाई बांटने और जश्न मनाने पर मुस्लिम युवक बाबर अली (25) की उसी के समुदाय के पड़ोसियों ने जमकर पिटाई की, जिसके बाद लखनऊ में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। वहीं स्थानीय वर्तमान भाजपा विधायक पीएन पाठक ने मिशाल पेश करते हुए खुद बाबर के जनाजे में न सिर्फ शामिल हुए बल्कि कंधा भी दिया। इस बीच, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाबर अली के निधन पर शोक जताया और उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट की। उन्होंने अधिकारियों को मामले की निष्पक्ष जांच करने का निर्देश दिया।

PunjabKesari

बता दें कि  बाबर को उसके पड़ोसियों ने 20 मार्च को रामकोला थाना क्षेत्र के कठघरही गांव में भाजपा की जीत का जश्न मनाने और पार्टी के चुनावी अभियान में भाग लेने के लिए पीटा था। अधिकारियों के मुताबिक, लखनऊ में इलाज के दौरान बाबर की मौत हो गई और रविवार को जब शव गांव पहुंचा तो परिजनों ने अंतिम संस्कार करने से मना करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। उन्होंने बताया कि हालांकि, कुशीनगर के नवनिर्वाचित भाजपा विधायक पीएन पाठक व अन्य अधिकारी वहां पहुंच गए और परिजनों को समझाया, जिसके बाद वे शव को दफनाने के लिए राजी हो गए। भाजपा विधायक पीएन पाठक ने कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।  

PunjabKesari

इस मामले में पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है, जबकि अन्‍य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। अधिकारियों के अनुसार, मृतक की पत्नी फातिमा खातून की शिकायत पर पुलिस ने 21 मार्च को ही चार लोगों अजीमुल्ला, आरिफ, सलमा और ताहिद के खिलाफ संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर दो आरोपियों आरिफ व ताहिद को गिरफ्तार कर लिया था, जबकि बाकी की तलाश जारी है। रिपोर्ट के अनुसार, बाबर विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा के पीएन पाठक के लिए प्रचार करता था और पार्टी की जीत के दिन उसने न सिर्फ पटाखे फोड़े थे, बल्कि मिठाइयां भी बांटी थीं, जिसके बाद पड़ोसी बहुत नाराज हो गए और उसे जान से मारने की धमकी देने लगे।

PunjabKesari
रिपोर्ट के मुताबिक, 20 मार्च को बाबर के पड़ोसियों ने उसे उसके घर में घेरकर डंडे से पीटना शुरू कर दिया और जब वह खुद को बचाने के लिए छत पर चढ़ गया तो उन्होंने उसे वहां से नीचे फेंक दिया। बाबर के भाई चंदे आलम और पत्नी फातिमा ने संवाददाताओं से कहा कि वे पड़ोसियों से सुरक्षा के लिए कई बार पुलिस और अन्य अधिकारियों के पास गए, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static