माघ मेला: साधु-संतों और श्रद्धालुओं की हो रही कोविड जांच, शिविर-शिविर जाकर टीम ले रही सैंपल

1/24/2021 12:41:56 PM

प्रयागराज: संगम की रेती पर लगे माघ मेले की शुरुआत हो गई है और इस बार कोविड काल के चलते साधु संतों और श्रद्धालुओं को कोरोना न हो इसके लिए प्रशासन ने कड़े  इंतजाम किए हैं। माघ मेला प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग की कई टीमों को गठित किया है जो विभिन्न सेक्टरों में साधु-संतों के शिविर में जाकर के कोविड की जांच कर रही है।  प्रशासन ने हर सेक्टर में एक टीम को लगाया है जिसमें 4 सदस्य शामिल है। एक टीम में 2 डॉक्टर का चयन किया गया है जो पीपीई किट पहन कर के हर शिविर में जाते हैं और वहां मौजूद साधु संत और श्रद्धालुओं की कोविड जांच करते हैं। रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही उस श्रद्धालु या कहें कि साधु-संत को रहने की अनुमति दी जाती है।

बता दें कि कोविड जांच  सुबह 10:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक  की जाती है। पीपीई किट पहन करके दो डॉक्टर  शिविर में प्रवेश करते हैं सबसे पहले  हर एक साधु संतों और श्रद्धालुओं  का  बकायदा  डिटेल  नोट होता है उनका कार्ड बनता है  जिसके बाद  उनकी जांच की प्रक्रिया शुरू की जाती है। उधर शिविर में रह रहे साधु-संतों का कहना है कि  सरकार की मंशा सार्थक है  और उनका प्रयास सफल है।  अगर  कोविड जांच के लिए  डॉक्टरों की टीम खुद ही शिविर-शिविर जा रही है  तो इससे बेहतर क्या होगा । सरकार की इस पहल का श्रद्धालु और साधु संत जमकर सराहना कर रहे हैं।

उधर, जांच कर रहे डॉक्टरों का कहना है कि बेहद सावधानी के साथ कोरोना की जांच कर रहे हैं और माघ मेले में आए श्रद्धालु और साधु संत उनका साथ भी दे रहे हैं। जांच करने के बाद उनकी रिपोर्ट आने तक उनको मॉनिटर किया जाता है और रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही रहने की अनुमति दी जाती है। माघ मेले में आए श्रद्धालुओं की हर 10 दिनों के अंतराल में दोबारा जांच करने के आदेश हैं। 

 


Umakant yadav

Related News