राज्य महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी अपने दिए बयान पर कायम, कहा-नाबालिग बच्चे-बच्चियों पर दे ध्यान

6/10/2021 10:25:14 PM

अलीगढ़: उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी  के विवादित बयान को लेकर हंगामा मचने के बाद उन्होंने अपने बयान में सफाई देते हुए कहा नाबालिग बच्चे-बच्चियों के मोबाइल पर परिवार को ध्यान देने की जरूरत है। उन्होंने कहा गांव में मां ज्याद पढ़ी लिखी नहीं होती है। घंटो-घंटो फोन पर बात और मैसेज करते हैं बच्चे इसकी मॉनिटरिंग माता पिता को करनी चाहिए। 

दरअसल, उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी गुरूवार को अलीगढ़ पहुंची, जहां उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि समाज में महिलाओं के प्रति बढ़ रहे अपराधों पर समाज को खुद गंभीर होना पड़ेगा। ऐसे मामलों में मोबाइल एक बड़ी समस्या बन कर आई। लड़कियां घंटों मोबाइल पर बात करती हैं लड़कों के साथ उठती बैठती हैं। उनके मोबाइल भी चेक नहीं किए जाते। इताना ही नहीं घर वालों को पता तक नहीं होता और फिर मोबाइल से बात करते करते लड़कों के साथ रफूचक्कर हो जाती है।

उत्तर प्रदेश महिला आयोग की सदस्य ने परिजनों से अपील की है कि लड़कियों को मोबाइल न दें और अगर मोबाइल दें तो उनकी पूरी मॉनिटरिंग परिजन खुद करें। उन्होंने कहा कि यह माँओं की बड़ी जिम्मेदारी है और आज अगर बेटियां बिगड़ गई हैं तो उसके लिए माएँ जिम्मेदार हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Recommended News

static