ट्रेन की चपेट में आने से मां-बेटी की दर्दनाक मौत, 2 और मासूम बच्चों के सिर से उठा मां का साया

punjabkesari.in Monday, Apr 24, 2023 - 09:13 AM (IST)

देवरिया: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के देवरिया (Deoria) गांव में अपनी दो छोटी बेटियों को बचाने के दौरान 35 वर्षीय एक महिला (Woman) की ट्रेन (Train) की चपेट में आने से मौत (Death) हो गई। जहां महिला ने ट्रेन की चपेट में आने से पहले अपनी दो छोटी बेटियों को बचाया, वहीं तीन में सबसे बड़ी तीसरी बेटी की भी हादसे में जान चली गई। घटना भटनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत रेलवे ट्रैक (Railway Track) पर हुई, जब खुखुंदू निवासी 35 वर्षीय सुनीता देवी अपनी तीन बेटियों गीतांजलि (12), स्नेहा (8) और परी (6) के साथ बाजार से घर लौट रही थी।

PunjabKesari

भीषण दुर्घटना ने दो छोटी लड़कियों को सदमे में डाला
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, लगभग 4 बजे जब वे रेलवे ट्रैक के किनारे घर वापस जा रहे थे तो बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस पीछे से आ गई। इस दौरान महिला और उसकी तीनों बेटियों घबरा गई। तभी सुनीता देवी ने ऐन वक्त पर स्नेहा और परी को ट्रैक से दूर धकेल दिया, लेकिन खुद ट्रेन की चपेट में आ गईं। गीतांजलि भी खुद को नहीं बचा पाई और ट्रेन के नीचे आ गई। सुनीता की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि गीतांजलि ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इस बीच, भीषण दुर्घटना ने दो छोटी लड़कियों को सदमे में डाल दिया।

PunjabKesari

पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा
वहीं मामले की जांच कर रहे गोरखपुर के पुलिस महानिरीक्षक जे. रविंदर गौड के अनुसार, घटना के बाद स्थानीय लोग उनकी मदद के लिए दौड़ पड़े। उन्होंने स्थानीय पुलिस को भी सूचना दी। इसके बाद गीतांजलि को देवरिया मेडिकल कॉलेज ले जाया गया जहां दो घंटे के बाद उसकी मौत हो गई। पुलिस ने सुनीता के पति रजनीश प्रसाद को घटना की सूचना दे दी है और दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Anil Kapoor

Related News

Recommended News

static