अनिल राजभर पर भड़के OP राजभर, कहा- ये मदारी और बजनिया लोग, जहां मिल जाए वहीं बाजा बजाते हैं

2/28/2021 10:08:57 AM

बस्तीः भासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर उत्तर प्रदेश के जिला बस्ती पहुंचे। जहां उन्होंने लाल टोपी को लेकर भारतीय जनता पार्टी पर करारा व्यंग्य किया। इसके साथ ही टोपी का इतिहास बताते हुए बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। इसके साथ ही उन्होंने अनिल राजभर को बजनिया तक कह डाला।

राजभर ने कहा जिस आरएसएस के बल पर वो कुर्सी पर बैठे हैं, सन 1925 में आरएसएस ने टोपी का प्रचलन शुरू किया, और जिस टोपी का जिक्र करते हैं इतिहास पढ़ लें 1925 में सबसे पहले आरएसएस ने टोपी की शुरूआत की थी, उस दिन मुझे आश्चर्य हुआ सदन के अंदर योगी जी ने कहा की मनु के वंशज हैं भगवान राम, आप मनुस्मृति लाना चाहते हो, छुआ-छूत, ऊंच-मीच नफरत लाना चाहते हो कभी हनुमान जी को दलित बताते हो, हिम्मत हो सुहेल देव जी को बता दो राजभर हैं, इतिहास पढ़ो उस में सुहेल देव जी को भर शासक दिखाया गया है।

उन्होंने कहा उत्तर प्रदेश में 18 प्रतिशत वोट भर बिरादरी का है, 18 प्रतिशत वोट लेने के लिए ये लोग छटपटा रहे हैं, मैं साथ था तो वोट मिल गया अब साथ नहीं है तो छटपटा रहे हैं। इसके बाद उन्होंने यूपी सरकार के मंत्री अनिल राजभर पर भी हमला बोला राजभर ने कहा की ये मदारी हैं कभी सपा का बाजा बजाते हैं, अमर सिंह के साथ जा कर बाजा बजाए, आज यहां बाजा बजा रहे हैं, ये बजनिया लोग हैं, इन को हम लोडर कहते हैं, मालिक और लोडर दो चीज होता है, ये लोडर लोग हैं जहां बाजा मिल जाता है वहीं बजाते हैं, जब मालिक को कुछ प्राफिट नहीं होता है तो ऐसे बजनिया को निकाल बाहर कर देते हैं।

प्रदेश की कानून व्यवस्था पर भी उन्होंने हमला बोला उन्होंने कहा की जो हमारी सुरक्षा में तैनात पुलिस कर्मी खुद मारे जा रहे हैं, सरकार कहती है भ्रष्टाचार नहीं आजादी के 74 साल में पहली बार देखा की श्मसान घाट से लाश गांव गई है, गांव से लाश शमसानघाट जाती है, लेकिन इस सरकार में गाजियाबाद में भ्रष्टाचार की भेट चढ़ा श्मसान घाट में बनने वाला छत जिसके नीचे दबकर 25 लोग मर गए और 25 लोगों की लाश शमसानघाट से गांव गई।


Content Writer

Moulshree Tripathi

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static