UP में सपा-कांग्रेस के बीच सीटों के बंटवारे पर राहुल गांधी ने दिखायी दिलचस्पी, अंतिम निर्णय की कवायद तेज

punjabkesari.in Monday, Feb 12, 2024 - 05:57 PM (IST)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश को लेकर कांग्रेस और सपा के बीच सीटों के बंटवारे को शीघ्र ही अंतिम रूप दे दिया जाएगा। कांग्रेस नेता राहुल गांधी के इस मामले में सीधे दिलचस्पी दिखाने के बाद सीट को लेकर अंतिम निर्णय लेने की कवायद तेज हो गई है। माना जा रहा है कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा के उत्तर प्रदेश में प्रवेश करने से पहले दोनों दलों की ओर से सीट पर हुए समझौते को सार्वजनिक कर दिया जाएगा। हालांकि, इससे पूर्व सपा प्रमुख अखिलेश यादव कांग्रेस को 11 सीटें दिए जाने की जानकारी साझा कर चुके हैं। वहीं, इसके बाद कांग्रेस की ओर से कुछ भी स्पष्ट प्रतिक्रिया नहीं आयी थी।

कांग्रेस उत्तर प्रदेश में 20 लोकसभा सीटों पर लड़ने को इच्छुक
दरअसल, सूत्रों का दावा है कि कांग्रेस उत्तर प्रदेश में 20 लोकसभा सीटों पर लड़ने को इच्छुक है। जिन 14 सीटों पर अब दोनों दलों की सहमति बनी है उनमें अमेठी, रायबरेली, फतेहपुर सीकरी, जालौन, कानपुर और झांसी भी शामिल हैं। अन्य पर भी इसी सप्ताह निर्णायक बातचीत होनी संभव है।

PunjabKesari

अखिलेश के साथ से मजबूत होगा हाथ
राहुल गांधी के भारत जोड़ो न्याय यात्रा को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का भी साथ मिल रहा है। हाल ही में उन्होंने स्पष्ट तौर पर यात्रा के साथ अमेठी अथवा रायबरेली में शामिल होने की सहमति दे दी है। संभावना सबसे अधिक रायबरेली में आने की जताई जा रही है। इसके लिए सपाई भी काफी उत्साहित हैं। सपा सुप्रीमो का साथ मिलने से कहीं ना कहीं कांग्रेस जिले में और मजबूत होगी। कांग्रेस के साथ सपा भी जगह-जगह बैठकें करके तैयारी में लग गई है।

रायबरेली से प्रियंका गांधी के उतरने की सुगबुगाहट फिर हुई तेज
अमेठी में राहुल गांधी के पिछले चुनाव में हार के बाद वापसी को लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं। वहीं रायबरेली से वर्तमान सांसद सोनिया गांधी के बजाए प्रियंका गांधी वाड्रा के चुनाव मैदान में उतरने की सुगबुगाहट एक बार फिर से तेज हो गई है। यही वजह है कि राहुल गांधी के भारत जोड़ो न्याय यात्रां के प्रदेश में प्रवेश करने पर अमेठी और रायबरेली में सबसे अधिक मजबूती के साथ कांग्रेसी पूरे देश में संदेश देने की तैयारी में है। इसकी मुख्य वजह प्रियंका वाड्रा के चुनाव की तैयारी के लिए पृष्ठभूमि तैयार करना है। राहुल गांधी द्वारा रायबरेली में भारत जोड़ो न्याय यात्रा के सहारे बहन प्रियंका के लिए राजनीति राह को आसान करने के लिहाज से भी देखा जा रहा है। यही वजह है कि यात्रा की सफलता और जन-जन तक संदेश पहुंचाने के उद्देश्य से ही कांग्रेस दिग्गजों ने दोनों जिलों में डेरा डाल दिया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ajay kumar

Recommended News

Related News

static