कोरोना का खौफ: बेटे ने पिता शव को लेने से किया इनकार, पुलिस ने शव को कचरा गाड़ी से भेजा

punjabkesari.in Sunday, May 30, 2021 - 12:36 PM (IST)

महोबा: उत्तर प्रदेश के महोबा जिले से मानवता को शर्मसार कर दने वाली घटना सामने आई है।  जहां पर कचरा गाड़ी से शव को ले जाने का मामला सामने आया है। बता दें कि जिले के खरेला कस्बे के 48 साल के किसान रामकरण की खांसी,जुकाम के बाद तबीयत बिगड़ी आनन फानन में उसे जिला अस्पताल पहुंचा गया जहां पर उसकी मौत हो गई। पिता की मौत के बाद बेटा कोरोना समझकर पिता के शव को छोड़कर भाग गया। मामले की सूचना पर एसआई सहित दो सिपाही अस्पताल पहुंचे इसके बाद नगर पंचायत की कूड़ा गाड़ी बुलकर शव को उसी लादकर पोस्टमॉर्टम को भेज दिया। जिसका वीडियो शोसल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

जानकारी के मुताबिक मामला महोबा जिले के जिला अस्पताल का बताया जा रहा है। जहां पर खरेला थाना कस्बा निवासी किसान रामकरण को उसका पुत्र दीपक द्वारा अचेत अवस्था में इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया था । जहां डाक्टर ने चिकित्सीय परीक्षण करते ही उसे मृत घोषित कर दिया। पिता को कोरोना पीड़ित समझकर दीपक अपने पिता के शव को अस्पताल में ही छोड़करघर भाग गया। चिकित्सालय प्रशासन द्वारा मृतक के शव को मुर्दाघर में रखवा कर मामले की सूचना पुलिस को भेजी दी। एसआई और दो सिपाही ने मृतक का पंचनामा भरने पहुंच गये। लेकिन मृतक के परिजन दोपहर तक नहीं आये, परेशान पुलिस ने जब मृतक के पुत्र दीपक से संपर्क किया तो दीपक ने पिता का शव को लेने से साफ इनकार कर दिया जिसके चलते पुलिस सकते में आ गयी।

मौजूद सब इंस्पेक्टर द्वारा मृतक के पुत्र को मोबाइल के माध्यम से बार बार समझाने के बाद मृतक का पुत्र नगर पंचायत की कचड़ा गाड़ी लेकर अपने पिता के शव का पोस्टमार्टम कराने पहुंचा। पुलिस ने भी मानवीय संवेदनाओं को ताक में रखते हुये शव को कचड़ा गाड़ी में लादकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया । हालकि सोशल मीडिया में खबर वायरल होने बाद एसपी ने सीओ चरखारी को 24 घण्टे के अंदर जांच कर रिपोर्ट प्रेषित करने के निर्देश दिये है । लेकिन कैमरे के सामने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है ।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static