साहूकार मगन ऊर्फ सोनू की हत्या मामले में तीन आरोपी गिरफ्तार, शव नाले से बरामद

3/4/2021 1:24:02 PM

मुरादाबाद:उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में थाना मझोला क्षेत्र में 10 फरवरी को साहूकार मगन ऊर्फ सोनू की गुमशुदगी के मामले में आज मुरादाबाद पुलिस ने 20 दिन बाद विद्युत विभाग में तैनात तीन संविदाकर्मियों को गिरफ्तार कर इस हत्याकांड का ख़ुलासा किया है, पुलिस ने ब्याज पर पैसे देने वाले  मगन ऊर्फ सोनू की हत्या करने के बाद उसके शव को बोर में बंद करके नाले में फेंकने के आरोप में उसके ही दोस्त संजीव, लाखन, मोहित को गिरफ्तार कर इनकी निशानदेही पर नाले से मगन का शव बरामद कर मामले का ख़ुलासा किया है।
PunjabKesari
बता दें कि साहूकार मगन उर्फ सोनू की गुमशुदगी के बाद थाना मझोला में मगन की गुमशुदगी की रिपोट दर्ज कराई थी, जिसके बाद परिजनों ने मगन की हत्या में उसके तीन परिचितों पर पूर्व में शक जताया था, परिजनों के शक के आधार पर पुलिस ने तीनों दोस्तों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी की थी लेकिन पुलिस ने बाद में तीनों ही आरोपियों को छोड़ दिया था। वहीं तब दलित समुदाय के नेताओं ने मुरादाबाद के मझौला इलाके में महापंचायत कर पुलिस प्रशासन से मगन को बरामद करने की मांग की थी जिसके बाद पुलिस अधिकारियों ने मगन की गुमशुदगी को गंभीरता से लेकर छानबीन की तो विद्युत विभाग में तैनात तीन संविदा कर्मी संजीव लाखन और मोहित पुलिस के रडार पर एक बार फिर आ गए, पुलिस ने तीनों लोगों को पकड़कर जब सख्ती से पूछताछ की तो मोहित ने पुलिस को बताया कि उसने मगन से 2 लाख 80 हज़ार रुपये ब्याज पर लिए थे, लेकिन बीच में कुछ किस्तें टूट गई थी जिसको लेकर उन लोगों में विवाद हो गया था, इसके बाद 11 फरवरी को मगन का पैसे लेने मोहित के घर गया था, वहां मोहित नहीं था, लेकिन मगन का मोहित के परिजनों से विवाद हो गया था, मोहित जब घर वापस आया तो परिजनों ने मोहित के आने की बात बताई जिसके बाद मोहित ने अपने दोस्त संजीव और लाखन को मिलाकर मगन की हत्या करने का प्लान बनाया और मगन को पैसे देने के बहाने बिजली घर पर बुलाया, जब मगन बिजली घर पहुंचा तो मगन के सर पर लोहे की रॉड से वार कर उसको बेहोश कर तकिये से उसका मुह दबाकर हत्या कर दी, उसके बाद इन तीनों लोगों ने मगन के शव को एलमुनियम के तार से बांधकर बोरी में रखा और फिर उसे प्लास्टिक के बोरे में रखकर मोटरसाइकिल पर रखकर थाना मझोला क्षेत्र के एक नाले में ले जाकर फेंक दिया, था।
PunjabKesari
एस पी सिटी अमित आनंद के मुताबिक मगन ब्याज पर रुपया देता था, विद्युत विभाग में तैनात संविदाकर्मी मोहित ने मगन से दो लाख 80 हज़ार रुपये उधार लिये थे, इसी रुपयों के ब्याज के चलते लोगों का विवाद हो गया था और 11 फरवरी को मगन इन लोगों ने हत्या कर उसका शव नाले में फेंक दिया था। फिलहाल पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। विधिक कार्रवाई कर आरोपीयों को जेल भेज दिया है।  उन्होंने बताया कि हत्या में इस्तेमाल तकिया, गद्दा, लोहे की रॉड, बिजली का तार, शव ले जाने वाली बाइक बरामद की गई है। 


Content Writer

Ramkesh

Related News