UP: आगरा में अधिवक्ताओं ने मनाया काला दिवस, 21 साल पुराने लाठीचार्ज का किया विरोध

punjabkesari.in Monday, Sep 26, 2022 - 03:43 PM (IST)

आगराः उत्तर प्रदेश की ताजनगरी आगरा में आज सोमवार के दिन दीवानी परिसर में 21 वर्ष पहले पुलिस द्वारा अधिवक्ताओं पर किए गए लाठीचार्ज के विरोध में सोमवार को जनमंच ने मानव श्रृंखला बनाकर प्रदर्शन किया। जिसमें वकीलों ने इस मामले में हाईकोर्ट बेंच की मांग की। वकीलों ने 21 साल पहले दीवानी में हुए लाठीचार्ज के दोषियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर काला दिवस मनाया है। इसके अलावा उन्होंने जुलूस निकालकर इस घटना का विरोध किया है और कार्रवाई की मांग की है।

बता दें कि काफी लंबे समय से हाईकोर्ट खंडपीठ को लेकर अधिवक्ता धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। इस मामले में अधिवक्ताओं पर पुलिस द्वारा किए गए बर्बर लाठीचार्ज की जांच के लिए माननीय जस्टिस गिरधर मालवीय आयोग का गठन किया गया था। लाठीचार्ज को 21 वर्ष हो गए, लेकिन आगरा के अधिवक्ताओं को आयोग की रिपोर्ट आने के बावजूद भी न्याय नहीं मिला। 26 सितंबर 2001 को हुए लाठीचार्ज के विरोध में विभिन्न बार एसोसिएशन द्वारा प्रत्येक वर्ष न्यायिक कार्य से विरते रहते हुए काला दिवस मनाया जाता है। इसी क्रम में सोमवार को विभिन्न बार एसोसिएशन ने न्यायिक कार्य नहीं किया। वकीलों ने सुबह प्रभात फेरी निकाली गई। 21 साल पहले हुई घटना पर विरोध प्रकट किया। अब तक कार्रवाई न होने पर आक्रोश जताया।

यह लोग थे प्रदर्शन में शामिल
कार्यक्रम की अध्यक्षता चौधरी अजय सिंह एडवोकेट अध्यक्ष जनमंच ने एवं संचालन जितेंद्र चौहान ने किया। प्रदर्शन में मुख्य रूप से आगरा एडवोकेट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष दिलीप फौजदार एडवोकेट महासचिव फूल सिंह चौहान, ग्रेटर आगरा बार एसोसिएशन के पूर्व वरिष्ठ उपाध्यक्ष कमल सिंह वर्मा, गिरीश पाठक, पवन कुमार गुप्ता, बाबा दीवान सिंह, आरके नीलम, सतीश कुमार शाक्य, सोहेब अंसारी, भारत सिंह, गिर्राज रावत आदि रहे। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Pooja Gill

Related News

Recommended News

static