यूपीः अब सीधे अस्पतालों में भर्ती हो सकेंगे कोरोना मरीज, नहीं पड़ेगी रेफरल लेटर की जरूरत

4/22/2021 9:12:14 PM

लखनऊः उत्तर प्रदेश में खतरनाक कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से अपना पांव पसारता जा रहा है। ऐसे में प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार एक्शन मोड पर काम कर रही है। वह चाहे ऑक्सीजन प्लांट लगवाने की घोषणा हो या प्रदेश के अस्पतालों में बेड की संख्या जिसे लेकर सरकार लगातार बड़े फैसले ले रही है। इसी क्रम में कोरोना मरीजों को लेकर बड़ी राहत भरी खबर है जिसके तहत उन्हें अब भर्ती होने के लिए रेफरल लेटर की जरूरत नहीं पड़ेगी। यानि की संक्रमित मरीज अस्पतालों में सीधे भर्ती हो सकेंगे।

 वहीं गुरूवार को प्रदेश में कोविड-19 संक्रमित 195 लोगों की मौत हो गई तथा 34379 नए मरीजों में इस संक्रमण की पुष्टि हुई। यह दोनों ही आंकड़े अब तक के सर्वाधिक हैं। ऐसे में अस्पतालों में मरीज सीधे भर्ती हो सकेंगे। जो कि बड़ी राहत है।

गौरतलब है कि बीजेपी सांसद कौशल किशोर ने वीडियो जारी करते हुए कहा था कि कोरोना वायरस की बीमारी से जूझ रहे मरीजों को पहले खुद को भर्ती कराने के लिए सीएमओं को बोलना पड़ता है, उसके बाद सीएमओ जब आदेश कंट्रोल रूम को देते हैं, उसके उपरांत कंट्रोल रूम को मरीजों का नाम पता नोट कराने के बावजूद भी कई दिन तक पत्र जारी नहीं किया जाता है। यह व्यवस्था पूरी तरीके से गलत है और इसे रद्द कर देना चाहिए। मोहनलालगंज सांसद ने कहा था कि इस व्यवस्था के बदले जो लखनऊ में अस्पताल हैं, उन अस्पतालों के लोगों को ही कोरोना मरीजों को सीधे भर्ती करने की जिम्मेदारी दे देनी चाहिए, अगर अस्पतालों के पास बेड खाली हैं, तो वह मरीजों को सीधी भर्ती करने का काम करें और ऐसी व्यवस्था के लागू होने के बाद तमाम मरीजों की जान बच सकती है। 

 


Content Writer

Moulshree Tripathi

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static