शामली: जैन मंदिर से 150 साल पुरानी मुर्तियां चोरी, पुलिस विभाग में मचा हड़कंप

punjabkesari.in Saturday, Oct 01, 2022 - 12:32 PM (IST)

शामली: उत्तर प्रदेश के जनपद शामली में पुलिस विभाग में समय हड़कंप मच गया जब पुलिस को सूचना मिली कि दिगंबर जैन मंदिर में स्थापित डेढ़ सौ साल पुरानी मूर्तियां अज्ञात चोरों द्वारा चोरी कर ली गई है। सूचना के बाद आनन-फानन में तमाम आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। बताया जा रहा है कि यह पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर का निर्माण करीब डेढ़ सौ साल पहले हुआ था और तभी इन मूर्तियों को भी मंदिर में स्थापित किया गया था। जैन मंदिर में हुई चोरी की इस वारदात से क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है और जैन समाज में इस घटना के बाद से ही भारी आक्रोश बना हुआ है।
PunjabKesari
बता दें कि पूरा मामला जनपद शामली के थाना घड़ी गुप्ता क्षेत्र के गांव भैंसवाल का है, जहां पर बीती रात अज्ञात चोरों ने श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर से अष्टधातु की मूर्तियों को चोरी कर लिया। जानकारी के मुताबिक,  इस मंदिर का निर्माण करीब डेढ़ सौ साल पहले कराया गया था और तभी यहां पर पांच मूर्तियां स्थापित की गई थी, जिनमें तीन मूर्तियां पाशांग की है और दो मूर्तियां अष्टधातु की है। जो दो मूर्तियां अष्टधातु की है उनको बीती रात अज्ञात चोरों ने चोरी कर लिया। पूरी घटना का पता उस समय चला जब मंदिर के पुजारी सुबह करीब 6:30 बजे मंदिर में पूजा करने के लिए पहुंचे तो मंदिर में रखी दो अष्टधातु की मूर्तियां गायब मिली जिसके बाद उन्होंने घटना की सूचना मंदिर कमेटी को दी जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। 
PunjabKesari
जैन समाज में आक्रोश का माहौल
जैन मंदिर में हुई चोरी की वारदात का पता चलते ही आनन-फानन में पुलिस के आला अधिकारी भारी मात्रा में पुलिस फोर्स, डॉग स्क्वायड, फॉरेंसिक टीम, एसओजी टीम को लेकर घटनास्थल पर पहुंचे जहां से फॉरेंसिक टीम ने कुछ सैंपल भी लिए तो वहीं, एसओजी की टीम ने भी अपनी जांच पड़ताल की। जैन मंदिर में हुई चोरी की वारदात से क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है तो वहीं जैन समाज में इस घटना के बाद से ही आक्रोश बना हुआ है। जैन समाज के लोगों का कहना है कि उनके 150 साल पुराने मंदिर से 2 मूर्तियों के चोरी होने से उन्हें गहरा आघात पहुंचा है और इस घटना का शीघ्र ही खुलासा होना चाहिए तथा आरोपियों की गिरफ्तारी होनी चाहिए। फिलहाल पुलिस ने मंदिर कमेटी की तहरीर के आधार पर अभियोग पंजीकृत कर लिया है और आगे की वैधानिक कार्यवाही में जुट गई है।
PunjabKesari
वहीं, मंदिर कमेटी के लोगों ने बताया कि यह मंदिर करीब डेढ़ सौ साल पुराना है और अभी मंदिर में कंस्ट्रक्शन का कार्य चल रहा है जिस कारण मंदिर के गर्भगृह थे मूर्तियों को साइड में स्थापित किया गया है और वहीं पर अभी उनकी पूजा की जा रही है मंदिर में कल मजदूर काम कर रहे थे और काम करने के बाद शाम को करीब 6 और 6:30 बजे के आसपास वह काम खत्म कर कर मंदिर में ताला लगाकर चाबी पुजारी जी को देकर चले गए थे लेकिन जो मंदिर एक का उपरी मंजिल है उसका गेट जो है वह खुला पाया गया है अब यह पता लगाया जा रहा है कि वह गेट आखिर किसी के द्वारा खोला गया या भूलवश खुला रह गया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Imran

Related News

Recommended News

static