कानपुर: नोटों से सजाया गया माँ वैभव देवी का मंदिर, प्रसाद के लिए लगती है लोगों की भीड़

11/12/2020 2:36:41 PM

कानपुर: लॉक डाउन के दौरान देश की जनता के बीच आर्थिक संकट भले ही लोगों के मन को मायूस किये हो लेकिन कानपुर के सुप्रसिद्ध मंदिर में मां वैभव लक्ष्मी एक बार फिर से अपने भक्तों के चेहरे पर मुस्कान और आंखों में चमक ला रही हैं। जी हां यह कोई अद्भुत चमत्कार से कम नही है और न ही देश के किसी कोने में ऐसा नजारा देखने को मिलेगा। क्योंकि धन की देवी मां वैभव लक्ष्मी के मंदिर को नोटों से सजाया गया है। जिसमें सात लाख रुपये से अधिक नोट मंदिर में लगाये गए हैं। जिसमें 10 रुपये से लेकर दो हजार के नोट शामिल हैं। अब आप भी सोच रहें होंगे कि आखिर ऐसा क्यों किया गया। 

PunjabKesari

आपको बतातें चलें कि हिंदुओं का सबसे बड़े त्योहार दीपावली इस बार थोड़ा मायूसी भारी रहेगी। रिवाज के अनुसार घरों में लक्ष्मी-गणेश को विराजमान भी किया जाएगा और पूजा अर्चना के दौरान रौशनी भी की जाएगी। लेकिन कोरोना काल के चलते बच्चों की खुशियों पर लगी पाबंदी पूर्व की खुशियां नही ले पायेगा। इसीलिए लोगों को धन की वर्षा करने वाली महादेवी मां वैभव लक्ष्मी के प्रांगण को नोटो से सजाकर एक आकर्षण का केंद्र बनाया गया है।
 
PunjabKesari

मंदिर के पुजारी जीतेन्द्र मोहन वाजपेई ने बताया कि मंदिर के इतिहास की बात करें तो कानपुर के बिरहाना रॉड में मंदिर स्थापित है और मान्यता है कि आज से 100 साल पहले इस मंदिर में भगवान शंकर और राधा कृष्ण की पूजा अर्चना की जाती रही है। तभी साल 2000 में चैत्र माह में मां वैभव लक्ष्मी मूर्ति स्थापित की गई। जिसके बाद देर रात्रि माँ की शक्ति स्वम देखने को मिली। जिन्होंने कहा कि उनके दान पात्र में एकत्रित होने वाला धन भक्तों के बीच प्रसाद के रूप में बांट दिया जाए। तब से हर नवरात्रों को यहां मां वैभव लक्ष्मी का प्रसाद वितरित होता है, जिसको पाने के लिए हजारों लोगों की भीड़ देर रात से लगना शुरू हो जाती है। 


Ajay kumar

Related News