''किसान आंदोलन तोड़ेगा मोदी-योगी सरकार का घमंड''

punjabkesari.in Friday, Aug 13, 2021 - 06:06 PM (IST)

इटावा: मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के प्रदेश महासचिव मुकुट सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार पर किसानो को बर्बाद करने का आरोप लगाते हुए कहा कि इनका घंमड किसान आंदोलन तोड़ देगा। सिंह ने आज यासीनगर में पार्टी के क्षेत्रीय सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए कहा कि आज हम सब भयानक संकट से गुजर रह है और कोरोना काल में स्वास्थ्य और रोजी-रोटी बचाने में मोदी सरकार पूरी तरह विफल रही ह। इसके साथ किसान मजदूर विरोधी कानून, बेतहाशा महंगाई और पेगासस जासूसी काण्ड ने जन-जीवन और जनतांत्रिक ढांचे को हिलाकर रख दिया हैं । उन्होंने कहा कि मोदी-योगी सरकारो के झूठे वादो ने जनता का भरोसा तोड़ा है, किसान मजदूर एकजुट होकर चुनाव में इन्हें सबक सिखाने के मूड में है।

मुकुट सिंह ने कहा कि मोदी सरकार ने कोरोना की आड में अपने कारपोरेट मित्रो अंबानी-अडानी के लाभ के लिए किसानो पर काले कानून थोप दिए,लेकिन किसान आंदोलन ने उनके इरादों का पर्दाफाश कर दिया। किसान तीनों कानूनों बगैर रद्द कराये पीछे हटने को तैयार नही है। संयुक्त किसान मोर्चा ने मिशन उत्तर प्रदेश का ऐलान करते हुए पांच सितम्बर को मुजफ्फरनगर में विशाल रैली, सभी कमिश्नरियो पर रैलियां, जिलों और गांवो तक अभियान चलाकर छह माह बाद उत्तर प्रदेश किसान सभा के होने वाले चुनावों में योगी सरकार को हटाने का संकल्प लिया है।

माकपा नेता ने कहा कि योगी सरकार का भेदभाव व अहंकारी रवैया है, लाठी के जोर जनता की आवाज को दबा रही है, प्रदेश में कहीं बाढ़ तो कही सूखे से जनता तस्त है। बढते अपराध, भ्रष्टाचार, बेलगाम नौकरशाही ,उत्पीडन और भाजपा नेताओ की दबंगई से रक्षा करने के बजाय सरकार संरक्षण दे रही है, उनके हिंदू-मुस्लिम खेल को भी जनता समक्ष गयी है। क्षेत्रीय कमेटी के मंत्री अमर सिंह शाक्य ने पार्टी संगठन और जनसंगठनो की मजबूती और व्यापक करने के लिए जनता से गहरे से जुड़ने पर बल देते हुए राशन वितरण कल्याणकारी योजनाओ, गांव के विकास, बिजली सप्लाई आदि स्थानीय मुद्दो पर जुझारू आंदोलन छेडने की योजना पेश की जिसे स्वीकार किया गया।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static