यूपीः STF के हत्थे चढ़े दो तस्कर, एक करोड़ 70 लाख का गांजा बरामद

11/1/2020 5:09:03 PM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने अन्तररज्यीय स्तर पर मादक पदार्थों की तस्करी करने वाले गिरोह के ट्रक सवार दो सदस्यों को आज झांसी के नवाबाद सी क्षेत्र से गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 708.49 किलोग्राम गांजा बरामद किया। जिसकी कीमत करीब एक करोड़ 70 लाख रुपये आंकी गई है।एसटीएफ प्रवक्ता ने यहां यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि विगत काफी दिनों से आन्ध्र प्रदेश से लाकर राज्य के विभिन्न जिलो में अवैध मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले तस्करों के सक्रिय होने की सूचनायें प्राप्त हो रही थी, जिनके विरूद्ध कारर्वाई के लिए एसटीएफ को निर्देशित किया गया था। इस सम्बन्ध एसटीएफ मुख्यालय से अपर पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह के पर्यवेक्षण में एक टीम को अभिसूचना संकलन के लिए लगाया गया था। उन्होंने बताया कि अभिसूचना संकलन के दौरान मुखबिर ने सूचना दी कि रविवार को एक 10 टायरा एलपी ट्रक आन्ध्र प्रदेश के राजमुन्दरी से गांजे की बड़ी खेप लेकर हाथरस लाया जा रहा है और वहां किन्हीं लोगों को देनी है।

इस सूचना पर उपनिरीक्षक करूणेश पाण्डेय के नेतृत्व में एक टीम गठित कर झांसी भेजी गयी और वहां पहुंचकर स्थानीय पुलिस को सूचना से अवगत कराते हुए साथ लेकर मुखबिर द्वारा बताये गये स्थान बजरंग चौकी स्थित सखी हनुमान मन्दिर के सामने झांसी-कानपुर हाइवे पर नवाबाद पहुंचकर ट्रक की तलाशी के दौरान 708.49 किलोग्राम गांजा बरामद किया। मौके से एटा निवासी पुष्पेन्द्र सिंह और अनिल प्रताप को गिरफ्तार किया। उनके पास से तीन मोबाइल और अन्य कागजात बरामद किए।       

प्रवक्ता ने बताया कि पूछताछ पर गिरफ्तार आरोपियों ने बताया कि काफी समय से वह इस धंधे में लिप्त हैं । बरामद गांजा हाथरस के अनिल चौधरी एवं सतेन्द्र पण्डित का है। वह यह माल आन्ध्र प्रदेश के राजमुन्दरी से लाकर हाथरस में इन्हीं लोगों को देते हैं। गांजा लाने के लिए उन्हें प्रति चक्कर 50,000 से एक लाख रुपये तक मिलता है, जिसे यह लोग आपस में बांट लेते हैं। इसी मुनाफे की लालच में वह यह कार्य करते रहते हैं।       

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static