यूपीः बॉलीवुड अभिनेता सैफ अली खान के खिलाफ दर्ज हुआ केस, ये है मामला

punjabkesari.in Tuesday, Dec 15, 2020 - 12:08 PM (IST)

जौनपुर: हिन्दी फिल्म ‘आदि पुरूष' को लेकर फिल्म अभिनेता सैफ अली खां और निर्देशक ओम रावत के खिलाफ उत्तर प्रदेश में जौनपुर की एक अदालत में वाद दायर किया गया है। दीवानी न्यायालय के अधिवक्ता हिमांशु श्रीवास्तव ने सोमवार को प्रभारी एसीजेएम पंचम की कोर्ट में वाद दायर किया। न्यायालय ने वाद दर्ज कर सुनवाई की तारीख 23 दिसंबर नियत की है।

रावण का किरदार निभा रहे हैं अभिनेता सैफ़ अली ख़ान
आरोप है कि ‘आदि पुरुष' फिल्म के संबंध में सैफ अली खान ने धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाए वाला इंटरव्यू दिया। अधिवक्ता कोर्ट में धारा 156(3) दं.प्र.सं.के तहत अधिवक्ता उपेंद्र विक्रम सिंह के माध्यम से प्रार्थना पत्र दिया कि वह हिंदू धर्म में गहरी आस्था रखता है। बचपन से पवित्र हिंदू ग्रंथों के माध्यम से यह जान पाया कि भगवान श्रीराम को अच्छाई एवं रावण को बुराई का प्रतीक माना गया है। विजयदशमी का पर्व प्रतिवर्ष मनाया जाता है। संसार के मानव इतिहास में अन्यत्र कोई भी ऐसा तत्व या संस्था या व्यक्ति नहीं है जो भगवान श्री राम और सीता माता के द्वारा गढ़े गए कीर्तिमान,रचे गए प्रतिमान,बनाए गए सिद्धांत की गरिमा की तुलना कर सके। भगवान श्री राम व माता सीता वादी के आराध्य हैं। भगवान राम पर‘आदि पुरुष'फिल्म बनाई जा रही है जिसमें रावण का किरदार अभिनेता सैफ़ अली ख़ां ने निभाया है।      

सैफ ने रावण को बताया एक दयालु व्यक्ति
पिछली छह दिसंबर को सैफ अली ने मीडिया में फिल्म को प्रमोट करने के लिए इंटरव्यू दिया जिसमें उन्होंने रावण को एक दयालु व्यक्ति बताया। रावण द्वारा राम के विरुद्ध किए गए युद्ध को जायज ठहराया क्योंकि राम के भाई लक्ष्मण द्वारा रावण की बहन की नाक काट दी गई थी। यहां तक कि सीता के अपहरण को भी जायज बताया। फिल्म के जरिए वह रावण के मानवीय पक्ष को और दयालु और प्रासंगिक कर देंगे। प्रमोशन के लिए दिए गए इंटरव्यू में जानबूझकर सनातन धर्म की भावनाओं को भड़काने के लिए भगवान राम और माता सीता के महत्व को कम करते हुए रावण को दयालु न्यायोचित व जायज दिखाया व बताया गया। धर्मांतरण कराने की चेष्टा इस फिल्म के प्रमोशन के इंटरव्यू के माध्यम से की गई जिसे नौ दिसंबर को वादी ने सोशल मीडिया पर देखा व सुना जिससे वादी व गवाहों की धार्मिक भावनाएं आहत हुई एवं अत्यंत मानसिक कष्ट पहुंचा।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static