UP: अंतरराज्यीय नशा तस्कर गिरोह का पर्दाफाश, लाखों की स्मैक के साथ सरगना सहित 8 महिलाएं गिरफ्तार

punjabkesari.in Friday, May 20, 2022 - 08:39 PM (IST)

सहारनपुर: उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में पुलिस ने मादक पदार्थों की तस्करी में लिप्त एक अंतरराज्यीय महिला गिरोह से 23 लाख रुपये की स्मैक के साथ गिरोह की आठ महिला सदस्यों को गिरफ्तार किया।

शहर के पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने शुक्रवार को बताया कि थाना कुतुबशेर पुलिस ने भूरी गिरोह की आठ महिलाओं की कल देर शाम गिरफ्तारी की थी, जिन्हें आज जेल भेजा गया। कुमार ने बताया कि गिरफ्तार महिलाओं में भूरी उर्फ उजमा पत्नी अब्दुल कादिर और बबली उर्फ मुस्तफा पत्नी जहांगीर, नशे की तस्करी के आरोप में पहले भी जेल जा चुकी हैं, जबकि इस गिरोह की छह अन्य महिला तस्कर पहली बार गिरफ्तार हुई हैं। इनमें इमराना पत्नी फिरोज, चांदनी पत्नी नौशाद, हाजिरा पत्नी सलीम, इशरत पत्नी नसीम, अफसाना पत्नी मोहम्मद नदीम और सोनिया पत्नी वसीम शामिल हैं।       

उन्होंने बताया कि इस गिरोह की लीडर भूरी उफर् उजमा का पति अब्दुल कादिर फरार हैं। वह भी नशे के इस अवैध कारोबार में शामिल है। कुमार ने बताया कि महिलाओं का यह गिरोह सहारनपुर में स्कूल, कालेजों और आसपास के मोहल्लों में स्मैक बेचते हैं। उन्होंने कहा कि इससे बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं और युवा वर्ग नशे की चपेट में आया है। सहारनपुर पुलिस को इस गिरोह की गिरफ्तारी के लिए खासतौर से लगाया गया था। थानाध्यक्ष कुतुबशेर पीयूष दीक्षित ने बताया कि गिरफ्तार महिला गिरोह की सभी सदस्य सहारनपुर की रहने वाली हैं। उनके पास से 12490 रुपये भी बरामद हुए हैं। यह गिरोह हरिद्वार, देहरादून, हरियाणा, पंजाब आदि स्थानों पर बड़ी मात्रा में स्मैक की सप्लाई करता है। ये लोग घरों में और उसके आसपास फुटकर में स्मैक बेचते हैं। सोनिया और भूरी बड़ी मात्रा में स्मैक लेकर देहरादून और हरिद्वार तक भी सप्लाई करती हैं।       

एसपी सिटी ने यह भी बताया कि गैंग में शामिल युवतियों के साथ अनैतिक कार्य भी कराया जाता है। ऐसा एक मुकदमा इनमें शामिल एक युवती ने थाना कुतुबशेर पर दर्ज कराया था लेकिन बाद में वह युवती अपने कथन से पलट गई थी। एसपी सिटी ने बताया कि इस गिरोह में अच्छी-खासी संख्या में पुरूष भी शामिल हैं। पुलिस पूरे गैंग की गिरफ्तारी के प्रयास में लगी हुई है। नशे का यह कारोबार सहारनपुर जिले में फैला हुआ है और युवा वर्ग नशाखोरी की लत में फंस रहा है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static